×

खनन पट्टों की ई-नीलामी से गदगद उत्तराखंड सरकार, आधार मूल्य से 9 गुना ज्यादा मिला

aman

amanBy aman

Published on 16 Feb 2018 9:19 AM GMT

खनन पट्टों की ई-नीलामी से गदगद उत्तराखंड सरकार, आधार मूल्य से 9 गुना ज्यादा मिला
X
खनन पट्टों की ई-नीलामी से गदगद उत्तराखंड सरकार, आधार मूल्य से 9 गुना ज्यादा मिला
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

देहरादून: उत्तराखंड में पहली बार सरकारी कार्यों और पट्टों के आवंटन के लिए ई-नीलामी प्रक्रिया अपनायी गई है। इस प्रक्रिया के उत्साहवर्धक नतीजे भी मिले हैं। राज्यभर में चिन्हित उपखनिज लॉटों के आवंटन के लिए सरकार ने ई-निविदा सह ई-नीलामी प्रक्रिया लागू की है। इस प्रक्रिया के तहत पहले चरण में ई-निविदा प्रक्रिया संपन्न होनी होती है। ई-निविदा के सफल निविदाकारों को ई-नीलामी में हिस्सा लेने की अनुमति मिलती है। नीलामी की प्रक्रिया भी ऑनलाइन ही संपन्न होनी है।

इसी कड़ी में हरिद्वार के चार उपखनिज लॉट के लिए फरवरी के पहले हफ्ते में ई-नीलामी प्रक्रिया संपन्न हुई। जिसमें ऑन लाइन बोली 6 गुना से भी अधिक गई।

शुक्रवार (16 फ़रवरी) को नैनीताल के भोरसा उपखनिज लॉट के लिए ई-नीलामी प्रक्रिया संपन्न करायी गई। यहां भी प्रतिभागियों में जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा दिखी। ऑनलाइन बोली के लिए सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक का समय निर्धारित था। एक बजे से पांच मिनट पहले तक यदि कोई बोली प्राप्त होती तो उस समय पर अन्य बोलीदाताओं के लिए बोली 5 मिनट स्वतः अग्रेनीत हो जाने का प्रावधान रखा गया। इस तरह ऑनलाइन बोली दोपहर 3.50 बजे तक बढ़ती चली गई। अंततः ई-नीलामी में अधिकतम बोली रुपए 5,07,14,400 प्राप्त हुई, जो निर्धारित आधार मूल्य के लगभग 9 गुना है।

निदेशक भूतत्व एवं खनिकर्म ने बताया कि प्रतिभागियों के मध्य जबरदस्त प्रतिस्पर्धा देखने को मिली। ई-नीलामी से सरकार को अधिकाधिक राजस्व तो मिलेगा ही, साथ-साथ अवैध खनन पर नियंत्रण हो जाने की भी पूर्ण संभावना जतायी।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story