वंदे भारत मिशनः चौथा दिन, तीन उड़ानें, 500 से अधिक प्रवासियों की घर वापसी

सरकार ने कोरोनोवायरस संबंधी प्रतिबंधों के कारण विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए 7 मई को ‘वंदे भारत मिशन’ शुरू किया था। मिशन के चरण-1 के तहत, सरकार ने कुल 12,000 भारतीयों को अमेरिका, ब्रिटेन, फिलिपिंस, बांग्लादेश, मलेशिया और मालदीव जैसे देशों से निकाला है।

वंदे भारत मिशन के तहत भारत के सघन प्रत्यावर्तन अभियान के तहत मंगलवार को केरल में तीन उड़ानों से प्रवासियों को लाया गया। कुवैत से आई एयर इंडिया की उड़ान से कन्नूर में रात 9:10 पर दस बच्चों सहित 188 यात्री लौटे। जबकि कुआलाम्पुर कोच्चि उड़ान रात 10:15 बजे कोचीन एयरपोर्ट पर आई। इसके अलावा दोहा फ्लाइट बुधवार को तड़के कन्नूर में नौ बच्चों और 177 यात्रियों के साथ लैंड की।

बुधवार को तीन उड़ानों का केरल आना अभी बाकी है। इनमें दुबई कोच्चि उड़ान (IX0434) के शाम 6:25 बजे आने की संभावना है। कुवैत थिरुअनंतपुरम फ्लाइट (IX0396) रात 9:25 बजे और सललाह-कोझिकोड उड़ान रात 8:40 बजे पहुंचेगी।

सोमवार को दो उड़ानों से 358 यात्री केरल आए। पहली उड़ान (IX0452) आबूधाबी से दो बच्चों और 173 यात्रियों को लेकर आई। दूसरी उड़ान (IX0374) दोहा से 183 यात्रियों को लेकर कोझिकोड आई। सोमवार को ही दो अन्य उड़ानें दुबई-मंगलुरु और मस्कट-हैदराबाद आयीं।

21 देशों से 32 हजार लोगों की होगी घर वापसी

वंदे भारत मिशन का चरण-दो शनिवार से शुरू हुआ है और 22 मई तक चलेगा। चरण-2 में 25 से अधिक उड़ानें केरल में निर्धारित की गई हैं। सात दिनों के दौरान 21 देशों के 32,000 से अधिक लोगों को वापस लाए जाने की उम्मीद है। अब तक, 1,88,646 से अधिक भारतीय नागरिकों ने वापसी के लिए पंजीकरण करा लिया है।

इन्हें भी पढ़ें

वंदे भारत मिशन जारी, 24 घंटे में 800 से ज्यादा भारतीयों की हुई वतन वापसी

सरकार की अपनी नीति के अनुसार, गर्भवती महिलाओं, बुजुर्गों, छात्रों और निर्वासन की संभावना का सामना कर रहे लोगों को वापस घर वापस ला रही है।

इन्हें भी पढ़ें

वंदे भारत मिशन: 180 भारतीयों को लेकर मलेशिया से चेन्नई पहुंचा एअर इंडिया का विमान

सरकार ने कोरोनोवायरस संबंधी प्रतिबंधों के कारण विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए 7 मई को ‘वंदे भारत मिशन’ शुरू किया था। मिशन के चरण-1 के तहत, सरकार ने कुल 12,000 भारतीयों को अमेरिका, ब्रिटेन, फिलिपिंस, बांग्लादेश, मलेशिया और मालदीव जैसे देशों से निकाला है।

इन्हें भी पढ़ें

वंदे भारत मिशन के तहत 167 भारतीय अमेरिका से अमृतसर पहुंचे