सामने आया विशाखापट्टनम गैस लीक का दिल दहला देने वाला वीडियो, कांप उठेगी रूह

विशाखापट्टनम गैस लीक हादसे की घटना के 9 दिन पूरे होने के बाद अभी तक न तो इस मामले में कोई दोषी सामने आया है ना ही किसी की गिरफ्तारी हुई है। जबकि सीसीटीवी में कैद गैस रिसाव की तस्वीरों को देखकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं।

नई दिल्ली: विशाखापट्टनम गैस लीक हादसे की घटना के 9 दिन पूरे होने के बाद अभी तक न तो इस मामले में कोई दोषी सामने आया है ना ही किसी की गिरफ्तारी हुई है। जबकि सीसीटीवी में कैद गैस रिसाव की तस्वीरों को देखकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं।

घटना के बाद पुलिस के हाथ जो सीसीटीवी फुटेज लगी है, उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि कैसे जहरीली गैस का रिसाव हुआ और इतना बड़ा हादसा हुआ।

दरअसल, विशाखापट्टनम में एलजी पॉलिमर्स फैक्ट्री से जहरीली गैस का रिसाव 7 मई की तड़के सुबह करीब 3 बजकर 47 मिनट पर होता है। चंद मिनटों में ही वो आसपास के 5 गांवों को अपनी आगोश में ले लेती है। सीसीटीवी में दिख रहा है कैसे पास में बसे वेंकटपुरम गांव में जहरीली गैस भरती जा रही है।

गैस लीक मामले में एलजी पॉलिमर्स के खिलाफ बड़ा एक्शन, 50 करोड़ की नोटिस जारी

चलते-चलते लोग हो गये थे बेहोश

एक अन्य कैमरे में, जब रात के 3 बजकर 51 मिनट का वक्त हो रहा है और एक शख्स गैस की चपेट में आकर गाड़ी के बोनट पर बेसुध हो कर गिर पड़ता है। तीसरी तस्वीर बेहद खतरनाक है। सड़क पर चल रही है एक महिला बेहोश होकर वहीं गिर पड़ती है और बेचैन होकर रास्ते में ही लोटने लगती है।

चौथी तस्वीर भी दर्दनाक है जहां सड़क पर गिरा एक बच्चा एक-एक सांस के लिए तड़प रहा है। वेंकटपुरम गांव में लगे सीसीटीवी कैमरों ये तस्वीरें कैद हुई हैं जिसे देखने के बाद ये अहसास हो रहा है कि फैक्ट्री के गैस रिसाव के बाद आसपास के गांवों का मंजर कितना खौफनाक रहा होगा।

विशाखापत्तन में फार्मा कंपनी में गैस लीक होने से मचा हड़कंप, लोगों को सुरक्षित निकाला

एलजी पॉलिमर्स फैक्ट्री से स्टाइरीन गैस रिसाव हादसे में ना सिर्फ 12 लोगों की मौत हुई थी बल्कि 45 बच्चों समेत 300 लोगों की तबीयत खराब हुई थी।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App