बंगाल हिंसा: PM मोदी, गृह मंत्री से मिले राज्यपाल, ममता ने लगाया ये बड़ा आरोप

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव बाद राजनीतिक हिंसा जारी है। इस पर सियासी तूफान खड़ा हो गया है जो मंगलवार को दिल्ली पहुंच गया। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव बाद राजनीतिक हिंसा जारी है। इस पर सियासी तूफान खड़ा हो गया है जो मंगलवार को दिल्ली पहुंच गया। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने सोमवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक त्रिपाठी ने गृह मंत्री को राज्य में राजनीतिक हिंसा और मौजूदा हालात पर 48 पेज लंबी रिपोर्ट सौंपी। हालांकि, गृह मंत्री से मुलाकात के बाद त्रिपाठी ने इससे महज शिष्टाचार भेंट करार दिया।

यह भी पढ़ें…मुलायम सिंह का हालचाल लेने पहुंचे CM योगी, देखिये इन तस्वीरों में

राज्यपाल त्रिपाठी ने कहा कि उन्होंने बस राज्य की स्थिति के बारे में पीएम और गृह मंत्री को अवगत कराया। इस बीच राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी पर बंगाल में हिंसा फैलाने और उनकी सरकार को गिराने की साजिश रचने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि वह किसी को भी अपनी सरकार को गिराने नहीं देंगी।

इससे पहले पश्चिम बंगाल में कानून और व्यवस्था की ‘बिगड़ती’ स्थिति को लेकर अडवाइजरी जारी करने के एक दिन बाद गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को आंतरिक सुरक्षा के मसले पर उच्चस्तरीय बैठक की। बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें…CM योगी से मिलने लखनऊ पहुंचे शिवसेना सांसद संजय राउत की तस्वीरें

माना जा रहा है कि बैठक में बंगाल में राजनीतिक हिंसा पर खास चर्चा हुई। बैठक खत्म होने के बाद पश्चिम बंगाल के गवर्नर केशरीनाथ त्रिपाठी ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

शाह से मुलाकात के बाद गवर्नर त्रिपाठी ने पत्रकारों से कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को पश्चिम बंगाल की स्थिति से अवगत किया। मैं विस्तृत जानकारी नहीं दे सकता।’ पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर त्रिपाठी ने कहा कि बैठक के दौरान ऐसी कोई बातचीत नहीं हुई।