×

बॉर्डर पर भीषण आग: सेना ने संभाला मोर्चा, आसमान में दिखे एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर

नगालैंड की दजुको घाटी के जंगलों में पिछले 5 दिनों से आग लगी हुई है। आग बुझाने के लिए NDRF के साथ वायुसेना और थल सेना ने मोर्चा संभाला है।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 4 Jan 2021 3:48 AM GMT

बॉर्डर पर भीषण आग: सेना ने संभाला मोर्चा, आसमान में दिखे एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: भारत के नागालैंड-मणिपुर बॉर्डर पर दज़ुको घाटी के जंगलों ने भीषण आग लगने की जानकारी मिली है। आग बुझाने के लिए एनडीआरएफ की टीम के साथ ही वायुसेना और थल सेना ने मोर्चा संभाला। वायुसेना के हेलीकॉप्टर से जंगलों में फ़ैल रही आग बुझाई गयी। इस दौरान भारतीय सेना और असं राइफल्स के जवान भी एनसीआरएफ की मदद करते नजर आये।

नगालैंड-मणिपुर सीमा पर दजुको घाटी के जंगल में लगी आग

दरअसल, नगालैंड की राजधानी कोहिमा के पास स्थित दजुको घाटी के जंगलों में पिछले 5 दिनों से आग लगी हुई है। पांच दिनों से नगालैंड राज्य आपदा प्रबंधन के साथ एनडीआरएफ और वन विभाग की टीमें मिलकर आग पर काबू पाने का प्रयास कर रही थी। हालाँकि भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्‍टरों और थल सेना ने मोर्चा संभालते हुए एनडीआरएड की मदद की, तब जाकर जंगलों की आग बुझ सकी।

NDRF के साथ सेना और वायुसेना के हेलिकॉप्‍टरों ने पाया आग पर काबू

इस दौरान असम राइफल्स, पुलिस, वन विभाग और स्‍थानीय स्‍वयंसेवियों ने भी एनडीआरएफ की मदद की। जिस दजुको घाटी के जंगलों में आग लगी थी, वह नगालैंड और मणिपुर राज्‍य की सीमा पर स्थित है, इसलिए इस आग से दोनों राज्‍य प्रभावित थे।

बताया गया कि आग बुझाने के लिए भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टरों का इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा वायुसेना एयर ट्रैफिक कंट्रोल व एयर स्पेस मैनेजमेंट में मदद मुहैया करा रही है।

ये भी पढ़ेंः बिहार में खुले स्कूल: केरल के कॉलेजों में पढ़ाई शुरू, आज से होगी ऑफलाइन क्लास

एजेंसियों के ठहरने, टेंट और रसद पहुंचाने में जुटी सेना

वहीं आग पर काबू पाने के साथ ही आर्मी राहत कार्य और मदद में लगी विभिन्न एजेंसियों के ठहरने, टेंट और रसद पहुंचाने के काम में भी जुटी हुई है। इसके अलावा बाम्बी बकेट ऑपरेशन के लिए सेना ने एयरबेस भी उपलब्ध कराया है। साथ ही ग्राउंड स्टाफ के साथ भी समन्वय किया जा रहा है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story