गल्‍फ में प्रोडक्‍ट की तरह बेची जा रही महिलाएं, मंत्री ने लिखा पत्र

Published by shalini Published: May 25, 2016 | 1:32 pm
Modified: May 25, 2016 | 3:24 pm

प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ: आज भी महिलाओं की स्थिति ठीक नहीं है। आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से गल्‍फ के देशों में जाकर घरेलू काम करने वाली महिलाओं की हालत काफी बदतर बताई जा रही है। ये महिलाएं इन देशों में न सिर्फ बेची जा रही हैं, बल्कि जेलों में सड़ भी रही हैं। यह खुलासा आंध्र प्रदेश के मिनिस्टर पी रघुनाथ रेड्डी ने किया है। उन्होंने फॉरेन मिनिस्टर सुषमा स्वराज को एक लेटर लिखकर इस मामले की जाचं करवाने और इन महिलाओं की वतन वापसी कराने की अपील की है। बता दें कि खाड़ी देशों में 10 हजार से ज्यादा भारतीय महिलाएं फंसी हैं।

क्‍या लिखा गया है लेटर में
-सूत्रों के अनुसार आंध्र के नॉन-रेसिडेंट इंडियन वेलफेयर मिनिस्टर पी.रघुनाथ रेड्डी ने पिछले हफ्ते यह लेटर केंद्र को लिखा था।
-इस पत्र में उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार को महिला तस्करी के मामले में कदम उठाने चाहिए।’
-‘उन्हें फ्री ट्रैवल और जरूरी वीजा डॉक्युमेंट्स को जल्द से जल्द दिलाए जाने चाहिए।’

-‘केंद्र सरकार को इस मामले में इंडियन एम्बेसी को डायरेक्शन भेजना चाहिए और खाना, कपड़े और रहने का अरेंजमेंट भी किया जाना चाहिए।’
-’25 महिलाएं अभी जेल में बंद हैं, जिन्होंने हाल ही में राज्य सरकार से तुरंत मदद मांगी है।’

गल्‍फ जाएगा मंत्रियों का एक ग्रुप
-राज्य के एक सीनियर अफसर के मुताबिक ‘मंत्रियों का एक ग्रुप अगले महीने गल्फ जाएगा।
-उनके रीजन से जाने वाले लोगों के मामले में जांच करेगा।’
-‘गल्फ देशों में इन लोगों को लीगल मदद भी दी जाएगी। राज्य सरकार इस मसले पर भी विचार कर रही है।’

प्रोडक्‍ट की तरह बेची जा रही महिलाएं
-यूं तो  अभी तक यह सटीक डाटा नहीं मिल पाया है कि वहां कितनी महिलाएं फंसी हैं।
-लेकिन यह नंबर 10 हजार हो सकती है। इनमें से कई जेल में हैं।’
-रेड्डी ने इस लेटर में बेहद चौकाने वाली बात भी लिखी है।

-उन्होंने लिखा – ‘आंध्र और तेलंगाना राज्य से जाने वाली महिलाओं को खाड़ी के देशों में रिटेल शॉप की तरह एक प्रोडक्ट की तरह बेचा जाता है।’
-‘ये महिलाएं सऊदी अरब में 4 लाख, बहरीन में 1 से 2 लाख और यूएई और कुवैत में 1 से 2 लाख रुपए में बेची जाती हैं।’

एजेंट ले जाते हैं महिलाओं को
-सरकार के सूत्रों के मुताबिक ये लोग एजेंट के जरिए गल्‍फ देशों में जाती हैं।
-कई बार एजेंट द्वारा चीटिंग के मामले सामने आते रहते हैं व इनमें से कुछ टूरिस्ट वीजा पर काम करती हैं।
-कुछ भारत लौटने के लिए लगने वाले फाइन का पेमेंट करने में सक्षम नहीं होती और उन्हें जेल जाना पड़ता है।
-इनमें से कई मामले ऐसे हैं, जिनके पास एक्जिट वीजा नहीं है।

-कई महिलाएं छोटे-मोटे जुर्म के चलते जेल में हैं।
-दलाल एजेंट भारत से तीन गुना ज्यादा सैलरी पर महिलाओं को झूठ बोलकर ले जाते हैं।
-बाद में, उन्हें वहीं छोड़ दिया जाता है।
-सरकारी डाटा के मुताबिक गल्फ के 6 देशों बहरीन, कुवैत, कतर, सऊदी अरब, यूएई और ओमान में 60 लाख से ज्यादा भारतीय रहते हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App