Top

बिहार की सत्ता पर काबिज JDU झारखंड में तलाश रही राजनीतिक ज़मीन

झारखंड में जदयू राजनीतिक हाशिए पर खड़ी है। पार्टी का न कोई विधायक है और आज के दिन में न कोई प्रदेश अध्यक्ष। केंद्रीय नेतृत्व की ओर से श्रवण कुमार को प्रदेश संयोजक बनाकर पार्टी को एकबार फिर से ज़िंदा करने की कोशिश हो रही है।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 7 Feb 2021 5:59 PM GMT

बिहार की सत्ता पर काबिज JDU झारखंड में तलाश रही राजनीतिक ज़मीन
X
झारखंड में जदयू राजनीतिक हाशिए पर खड़ी, राजनीतिक ज़मीन की कर रही तलाश
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झारखंड: झारखंड में जदयू राजनीतिक हाशिए पर खड़ी है। पार्टी का न कोई विधायक है और आज के दिन में न कोई प्रदेश अध्यक्ष। केंद्रीय नेतृत्व की ओर से श्रवण कुमार को प्रदेश संयोजक बनाकर पार्टी को एकबार फिर से ज़िंदा करने की कोशिश हो रही है। अबतक जितने भी प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए वे पार्टी की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरे। निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू भी पार्टी को खड़ा नहीं कर सके। लिहाज़ा, प्रदेश कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया है। नए अध्यक्ष की तलाश की जा रही है। श्रवण कुमार से पार्टी को काफी उम्मीदें हैं। इससे पहले वे पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता के तौर पर काम संभाल रहे थे।

विधानसभा चुनाव में बुरी हालत

2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में जदयू ने क़रीब 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारे। पार्टी का संगठनात्मक ढांचा नहीं होने की वजह से जदयू को सभी सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा। पार्टी ने आत्ममंथन करने के बजाय प्रदेश कार्यकारिणी को ही भंग कर दिया। पिछले दिनों रांची प्रेस क्लब में पार्टी की बैठक में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों से बात भी की गई। सभों ने पार्टी संगठन की कमज़ोरी को ज़िम्मेदार बताया।

जदयू

ये भी पढ़ें : रांची: पूर्व मंत्री का बड़ा बयान, केंद्र सरकार का दिल और मन है काला

उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश

झारखंड में राजनीतिक ज़मीन की तलाश कर रही जदयू को आगामी पंचायत चुनाव और लोकल बोडी इलेक्शन से काफी उम्मीदें हैं। पार्टी के प्रदेश संयोजक श्रवण कुमार ने कहा कि, आने वाले चुनावों में पार्टी अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराएगी। इस बाबत प्रमंडलवार कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। पार्टी के राष्ट्रीय महासिचव प्रवीण सिंह ने कहा कि, 2021 में जदयू नए तेवर में नज़र आएगी। यह झारखंड की माटी की पार्टी है। 2024 के चुनाव के लिए पार्टी खुद को तैयार कर रही है। पार्टी नेत्री एवं पूर्व मंत्री सुधा चौधरी ने कहा कि, जदयू अपनी राजनीतिक ज़मीन को फिर से प्राप्त करेगी। इसके लिए सभी कार्यकर्ताओं को मिलकर प्रयास करना होगा। उन्होने कहा कि, इस बाबत ज़िला अध्यक्षों से बात की जा रही है।

रिपोर्ट- शाहनवाज़

Monika

Monika

Next Story