×

संदेहों को साफ करने के लिए राफेल की सच्चाई बताएं : एंटनी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 Feb 2018 9:43 AM GMT

संदेहों को साफ करने के लिए राफेल की सच्चाई बताएं : एंटनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोच्चि : पूर्व रक्षा मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता ए.के.एंटनी ने रविवार को विवादित रक्षा अनुबंध से जुड़े संदेहों का साफ करने के लिए केंद्र सरकार से फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान सौदे के खरीद मूल्य और दूसरी शर्तो व नियमों को बताने को कहा। एंटनी ने मीडिया से कहा, "सभी के हित के लिए केंद्र को राफेल सौदे की शर्तो व नियमों व इसके मूल्य को उजागर करना होगा। इसके अलावा कोई दूसरे तरीका नहीं है। जनता को इस बारे में पता होना चाहिए जिससे उसके दिमाग में पैदा हुए संदेह साफ हो सकें।"

ये भी देखें : राहुल ने राफेल पर सवाल क्या किया, शाह के लिए अलोकतांत्रिक हो गए

कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार ने 2007 में वायुसेना के लिए 126 मीडियम मल्टी रोल काम्बैट एयरक्राफ्ट (एमएमआरसीए) खरीदने के लिए एक निविदा आमंत्रित की थी।

इस सौदे को संप्रग सरकार के समय अखिरी रूप नहीं दिया जा सके और इसके बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के अनुबंध पर हस्ताक्षर किए।

कांग्रेस ने राफेल मुद्दे को लेकर सरकार पर अपना हमला तेज कर दिया है।

कांग्रेस ने 9 फरवरी को कें द्र सरकार के समक्ष छह सवाल करते हुए हर लड़ाकू विमान की खरीद मूल्य और समझौते पर पहुंचने के विवरण को बताने की मांग की है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story