Top

वायु प्रदूषण : एयर क्वालिटी में सुधार, दिल्ली-NCR 'इमरजेंसी' से बाहर

राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को हवा की गुणवत्ता में सुधार हुआ। राजधानी में 15 क्षेत्रों में से छह क्षेत्रों में 'सीवियर' के मुकाबले 'वेरी पुअर' स्तर रिकॉर्ड किया गया।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 14 Nov 2017 3:41 PM GMT

वायु प्रदूषण : एयर क्वालिटी में सुधार, दिल्ली-NCR इमरजेंसी से बाहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी में मंगलवार को हवा की गुणवत्ता में सुधार हुआ। राजधानी में 15 क्षेत्रों में से छह क्षेत्रों में 'सीवियर' के मुकाबले 'वेरी पुअर' स्तर रिकॉर्ड किया गया। यह पिछले हफ्ते के मुकाबले पहली बार दर्ज किया गया है। जानकारों ने कहा कि हवा की रफ्तार बीते हफ्ते की तुलना में दोगुनी होने की वजह से पड़ोसी राज्यों और एनसीआर में बूंदा-बांदी की संभावना है, वायु की गुणवत्ता में और सुधार होने के आसार हैं, यह 'वेरी पुअर' या 'पुअर' श्रेणी में आ जाएगी।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) दिल्ली और एनसीआर का 398 है, जबकि प्रमुख प्रदूषक पीएम 2.5 या 2.5 मिमी से कम व्यास वाले कण शाम छह बजे 397 यूनिट रिकॉर्ड किए गए हैं। इसे 'वेरी पुअर' माना जाता है। हालांकि, दिल्ली का औसत एक्यूआई शाम छह बजे 407 था, इसके साथ ही 406 यूनिट पर पीएम2.5 था। इसे 'सीवियर' माना जाता है।

यह भी पढ़ें ... जहरीली धुंध को लेकर खट्टर-केजरीवाल दिल्ली में खेल रहे Hide and Seek

इसे बीते सात दिनों सात नवंबर से सुधार माना जा रहा है, दिल्ली में लोग औसत एक्यूआई रेंज 460 से 500 के बीच में जहरीली हवा में सांस ले रहे थे। पीएम2.5 एक खरतनाक स्तर 945 यूनिट पर गाजियाबाद सहित कुछ स्थानों पर पहुंच गया। गाजियाबाद में यह सुरक्षित सीमा से 37 गुना पार कर गया।

यह भी पढ़ें ... #airpollution में ऐसे रखें अपना ख्याल, ये हैं किफायती टिप्स

सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरमेंट के शोधकर्ता व सर्वोच्च अदालत द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) के सदस्य उस्मान नसीम ने आईएएनएस से कहा, "दिल्ली इमरजेंसी से बाहर है, लेकिन खतरे से बाहर नहीं है। आने वाले दिनों में 16 व 17 नवंबर तक स्थितियों के बेहतर होने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें ... वायु प्रदूषण से निपटने को लेकर गडकरी ने साझा की रणनीति

दुर्भाग्य से हम अभी भी खुश है कि वायु की गुणवत्ता वेरी पूअर है। बहुत से देशों में इस वायु गुणवत्ता पर इमरजेंसी जैसे हालात हैं, जिस पर हम खुश हो रहे हैं कि सुधार हो रहा है।"

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story