×

अमरनाथ मिश्रा- नदवी ने मस्जिद के बदले मांगे पैसे, राज्‍यसभा सांसद का पद

aman

amanBy aman

Published on 15 Feb 2018 5:25 AM GMT

अमरनाथ मिश्रा- नदवी ने मस्जिद के बदले मांगे पैसे, राज्‍यसभा सांसद का पद
X
अमरनाथ मिश्रा- नदवी ने मस्जिद के बदले मांगे पैसे, राज्‍यसभा सांसद का पद
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: अयोध्या सद्भावना समन्वय महा समिति के अध्यक्ष अमरनाथ मिश्रा ने दावा किया है कि अयोध्या में विवादित जमीन पर राम मंदिर का समर्थन करने वाले अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के पूर्व कार्यकारी सदस्य मौलाना सलमान हसन नदवी ने अयोध्या में ही एक और मस्जिद बनाने के लिए जमीन, पैसा और राज्यसभा सांसद का पद मांगा था। मिश्रा ने मीडिया को बताया, इस मांग के बाद वह 5 फरवरी को मौलाना नदवी से मिले थे और बाबरी मस्जिद, राम जन्मभूमि के मुद्दे पर बातचीत की थी।

अमरनाथ मिश्रा ने इसी संबंध में मौलाना सलमान हसनी नदवी के खिलाफ लखनऊ के हसनगंज कोतवाली में तहरीर दी है। तहरीर में उन्होंने इस बात का जिक्र किया है कि मौलाना ने मंदिर के पक्ष में बात करने के एवज़ में नकदी और राज्यसभा भेजे जाने की मांग की थी। तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने मामले को जांच शुरू कर दी है।

अमरनाथ मिश्रा- नदवी ने मस्जिद के बदले मांगे पैसे, राज्‍यसभा सांसद का पदअमरनाथ मिश्रा का ये है कहना

अमरनाथ मिश्रा ने दावा किया, कि 'मैं 5 फरवरी को नदवी से मिला था। इस दौरान हमने बाबरी मस्जिद-राम जन्मभूमि के मुद्दे पर चर्चा की थी। उन्होंने मुझसे कहा था, कि इस मुद्दे पर एक लिखित प्रस्ताव दिया जाए। जिस पर मैंने ऐसा ही किया, जो सभी को भेजा गया। वह अयोध्या में मक्का जैसी मस्जिद बनाना चाहते थे। इसके लिए वह 200 एकड़ जमीन, राज्यसभा सदस्यता और 1,000 करोड़ रुपए चाहते थे।'

नदवी का पलटवार

अमरनाथ मिश्रा के इस बोल को नदवी ने खारिज किया। उन्होंने आरोप लगाया, कि 'मिश्रा इस तरह के मुद्दे उठाकर हिंदुओं और मुसलमानों के बीच तनाव बरकरार रखना चाहते हैं। इस तरह के लोग नहीं चाहते कि अयोध्या में राम मंदिर या मस्जिद बने। वह शैतान हैं। उनका एक मात्र काम ईश्वर के कार्य में तनाव पैदा करना है। वह इस बात से भयभीत हैं कि हिंदू-मुस्लिम एकजुट हो जाएंगे। वह जानते हैं कि मैं अकेला ऐसा शख्स हूं जो यह मुद्दा उठा रहा हूं।'

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story