×

MP इलेक्शन : अमित शाह की तमन्ना थी इसलिए काट दिए दिग्गजों के टिकट

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 2 Nov 2018 12:06 PM GMT

MP इलेक्शन : अमित शाह की तमन्ना थी इसलिए काट दिए दिग्गजों के टिकट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

भोपाल : बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह हाल में ही होने वाले 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के साथ ही लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं। आज जिस तरह बीजेपी ने मध्य प्रदेश में अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की उससे ये साफ़ हो गया कि किसी भी नेता का कद चाहे कितना ही बड़ा क्यों न हो पार्टी से छोटा ही रहेगा। बीजेपी ने इस लिस्ट में 177 उम्मीदवारों की घोषणा की है।

पहली लिस्ट में 35 विधायकों के टिकट कटे हैं। इस लिस्ट में 6 महिला विधायक कों के भी नाम नहीं है। वहीं इस लिस्ट में शाह की धमक भी देखने को मिल रही है। कद्दावर मंत्री और पार्टी नेता हर्ष सिंह और बाबूलाल गौर के टिकट भी अधर में लटके हुए हैं।

ये भी देखें : MP चुनाव : लिस्ट बीजेपी की आई, लॉटरी कांग्रेस की लग गई..जानिए कैसे

मंत्री का टिकट काट पार्षद को थमा दिया

शिवराज सिंह चौहान मंत्रीमंडल में मंत्री रहीं माया सिंह का टिकट काट पार्षद सतीश शिकरवार को टिकट दिया गया है। माया सिंह ग्वालियर पूर्व से चुनावी मैदान में उतरती रही हैं। इसके साथ ही मंत्री गौरी शंकर शेजवार का टिकट काट उनके बेटे को उम्मीदवार बनाया गया है। बीजेपी ने पार्टी की सदस्यता लेने वाले 3 निर्दलीय विधायकों सुदेश राय को सीहोर, मूनमून सेन को सिवनी और कल सिंह भावर को झाबुआ से प्रत्याशी बनाया है। बाकी की 53 सीटों के लिए जल्द ही उम्मीदवार घोषित किए जाने हैं।

आपको बता दें, राज्य में एक ही चरण में 28 नवंबर को वोटिंग होगी और 11 दिसंबर को नतीजे आएंगे।

यह भी पढ़ें : MP में BJP के खिलाफ 8 राजनीतिक दलों का ‘महागठबंधन’

यह भी पढ़ें :महागठबंधन पर सस्पेंस बरकरार, मायावती के तेवर से सकते में विपक्ष

यह भी पढ़ें : कब तक कहेंगे कुशवाहा ‘ऐसी बात नहीं है’

यह भी पढ़ें : झारखंड के घोटाला किंग मधु कोड़ा कांग्रेस की गोद में, खिलेगा नया गुल

विधायकों की जन्मकुंडली देख तय हुए टिकट

पत्रकार सत्येंद्र सिंह कहते हैं कि मैं पिछले लगभग एक साल से देख रहा था कि राज्य बीजेपी संगठन कई मंत्रियों की विधानसभा सीटों पर गोपनीय सर्वे करवा रहा था इसके बाद मंत्रियों के टिकट कटने तय थे ऐसा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मंशा के अनुरूप ही किया गया

उन्होंने बताया कि शाह इन चुनावों को लोकसभा चुनावों की तैयारी के तौर पर ले रहे हैं अमित के पास सभी विधायकों की जन्मकुंडली मौजूद है इसमें ये तक लिखा हुआ है की ये विधायक कब-कब अपने इलाके में गए कितना समय दिया कौन सी जनकल्याण की योजना चलाई कितना पैसा अपनी निधि से खर्च किया यदि उनका विरोध हो रहा है तो उसके क्या कारण रहे उनके इलाके का सामाजिक और जातीय समीकरण कैसा है

सत्येंद्र कहते हैं, जो बीजेपी नेता मुगालते में थे कि उनके आका उनको टिकट दिलवा सकते हैं उनका ये मुगालता भी आका का टिकट कटते दूर हो गया है अमित शाह ने उम्मीदवार चयन को लेकर सीएम शिवराज से भी स्पष्ट कह दिया था कि वो टिकट वितरण में कोई हस्तक्षेप नहीं करेंगे

अमित शाह ने इन दिग्गजों को लगा दिया ठिकाने

विधानसभा सीट--2013 के प्रत्याशी---नए उम्मीदवार

सेंधवा -- रतनसिंह रावजी आर्य --अंतर सिंह आर्य

सरदारपुर -- वेलसिंह भूरिया--संजय बघेल

धरमपुरी -- कालुसिंह ठाकुर--गोपाल कनोजे

घटिया -- सतीश मालवीय--अशोक मालवीय

रतलाम ग्रामीण -- मथुरालाल--दिलीप मकवाना

सैलाना --संगीता चारेल--नारायण मेडा

मनासा -- कैलाश चावला --माधव मारू

टीकमगढ़-- के. के. श्रीवास्तव--राकेश गिरी

पृथ्वीपुर -- अनिता नायक--अभय यादव

छतरपुर -- ललिता यादव मंत्री को यहां से बदला--अर्चना सिंह

मलहरा से -- रेखा यादव--ललिता यादव

हटा -- उमा खटीक-- पीएल टंटवे

गुन्नौर -- महेन्द्र सिंह--राजेश वर्मा

बहोरीबंद - प्रभात पांडे--प्रणय पांडे

साहपुरा -- गंगाबाई धुर्वे--मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे

जुन्नारदेव -- नाथन शाह --आशीष ठाकुर

आमला -- चैतराम मानेकर --योगेश

घोड़ाडोंगरी -- सज्जन सिंह --गीताबाई

सांची -- गौरशंकर शेजवार (मंत्री)-- शेजवार के बेटे मुदित

विदिशा -- शिवराज सिंह--मुकेश टंडन

आष्टा -- रंजीत सिंह गुनवान --रघुनाथ मालवीय

सबलगढ़ -- मेहरबान सिंह रावत--सरला रावत

सुमावली -- सत्यपाल सिंह--बीएसपी से आए अजब सिंह

ग्वालियर पूर्व से -- माया सिंह (मंत्री)--सतीश सिकरवार

सेवढ़ा - प्रदीप अग्रवाल--राधेलाल

गुना -- पन्ना लाल शाक्य--गोपीलाल जाटव

अशोकनगर -- गोपीलाल जाटव--राम कोरी

सुरखी - पारूल साहू --सुधीर यादव

रामपुर - हर्ष सिंह (मंत्री)--विक्रम सिंह

सेमरिया - नीलम मिश्रा--के पी त्रिपाठी

त्यौथर --रमाकांत तिवारी--श्यामलाल द्विवेदी

देवसर --राजेन्द्र मेश्राम--सुभाष वर्मा

जयसिंहनगर -- प्रमिला सिंह--जयसिंह

जैतपुर - जयसिंह मरावी--मनीषा सिंह

बांधवगढ़ -- ज्ञान सिंह--शिवनारायण सिंह

बागली -- चंपालाल देवड़ा--पहार सिंह

मांधाता -- लोकेन्द्र सिंह तोमर--नरेन्द्र सिंह तोमर

महेश्वर -- मेव राजकुमार--भूपेन्द्र आर्य

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story