Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

तमिलनाडु: पेरियार की मूर्ति तोड़ने की कोशिश, BJP दफ्तर पर फेंका बम

aman

amanBy aman

Published on 7 March 2018 4:08 AM GMT

तमिलनाडु: पेरियार की मूर्ति तोड़ने की कोशिश, BJP दफ्तर पर फेंका बम
X
तमिलनाडु: अब पेरियार की मूर्ति तोड़ने की कोशिश, BJP दफ्तर पर फेंका बम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

चेन्नई: त्रिपुरा में बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा लेनिन की मूर्ति ढहाने का हंगामा अभी थमा भी नहीं था कि अब तमिलनाडु के वेल्लूर जिले में ख्यातिप्राप्त समाज सुधारक एवं द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई. वी. रामासामी पेरियार की मूर्ति तोड़ दी गई। इस घटना के बाद कोयंबटूर में कुछ अज्ञात लोगों ने बीजेपी के दफ्तर पर पेट्रोल बम फेंका।

यह घटना कोयंबटूर के चिथापुडुर में बुधवार तड़के हुई। पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। हालांकि, जिस वक़्त ये घटना हुई उस समय बीजेपी दफ्तर बंद था। इसलिए किसी के भी नुकसान की कोई जानकारी नहीं है।

दो लोग गिरफ्तार

स्थानीय पुलिस का दावा है कि नशे में धुत दो शराबियों ने इस घटना को अंजाम दिया। इस मामले में मुथुरमन और फ्रांसिस नामक दो लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि इन्हीं लोगों ने तिरुपत्तूर में लगी पेरियार की प्रतिमा को क्षति पहुंचाई है। पुलिस का कहना है कि मुथुरमन के बीजेपी कार्यकर्ता होने की संभावना है जबकि फ्रांसिस एक माकपा कार्यकर्ता है। अधिकारियों ने बताया कि पेरियार की मूर्ति चेहरे से क्षतिग्रस्त हुई है। स्थिति को देखते हुए घटनास्थल पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

यह पोस्ट हो सकता है वजह

माना जा रहा है कि यह घटना नेता एच. राजा के एक फेसबुक पोस्ट के बाद हुई है। इस पोस्ट में कहा गया था कि 'लेनिन कौन है? लेनिन और भारत के बीच क्या संबंध है? भारत और कम्युनिस्टों के बीच क्या संबंध है? त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा हटाई गई और कल तमिलनाडु में ई वी रामासामी की प्रतिमा होगी।' हालांकि, बाद में इस पोस्ट को हटा दिया गया था। बता दें, कि तमिलनाडु में पेरियार को रामासामी भी कहा जाता है।



aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story