×

अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए पहली बार ब्लैक कैट कमांडो

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 22 Jun 2018 6:03 AM GMT

अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए पहली बार ब्लैक कैट कमांडो
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीनगर: कश्मीर में अमरनाथ यात्रा 28 जून से शुरू हो रही है और आतंकी हमले को देखते हुए श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए इस बार बड़े लड़ाके यानि ब्लैक कैट कमांडो को तैनात किया गया है। श्रद्धालुओं का ये महाकवच आतंकियों का महाकाल साबित होगा।

यह भी पढ़ें: कांग्रेसी नेता का विवादित बयान, कहा- कश्मीरी चाहते हैं आजादी

अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा के लिए गृहमंत्रालय ने दो दर्जन एनएसजी कमांडो की तैनाती का फैसला किया है। यह पहली बार है जब अमरनाथ यात्रा की पहरेदारी की जिम्मेदारी एनएसजी को मिली है। खुफिया रिपोर्टों के मुताबिक अमरनाथ यात्रा के दौरान यात्रियों और सुरक्षा बलों के कैंपो पर विदेशी आतंकी बड़े पैमाने की पर हमले की साजिश रच रहे हैं।

सुरक्षा एवं प्रशासनिक इंतजामों की संयुक्त समीक्षा की

रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी हमले के दौरान सुरक्षा बलों और नागरिकों को बंधक बना सकते हैं लेकिन आतंकियों के मंसूबे को नाकाम करने के लिए NSG की क्रेक टीम दूर से मार करने वाले स्नाइपर के अलावा वाल पेनिट्रेशन राडार और ग्लोक पिस्टल से लैस है। सुरक्षा अधिकारियों ने गुरुवार और शुक्रवार को अमरनाथ यात्रा के इंतजामों की समीक्षा की।

सेना के एक प्रवक्ता ने शुक्रवार को कहा कि चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एके भट्ट और जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एस पी वैद्य ने विक्टर फोर्स कमांडर, कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक और सीआरपीएफ के महानिरीक्षक के साथ मिलकर अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा एवं प्रशासनिक इंतजामों की संयुक्त समीक्षा की।

यह भी पढ़ें: पुलिस ने नाबालिग को इस वजह से किया गिरफ्तार, CM को 93 दिनों बाद मिली खबर

बौखलाए आतंकी अपनी मौजूदगी दिखाने के लिए अमरनाथ यात्रा के दौरान कुछ भी कर सकते हैं। अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा में पहले ही सुक्षाबलों की 238 कंपनियां और जम्मू कश्मीर पुलिस का बड़ा दस्ता तैनात है।

सरकार अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा में जरा भी ढील नहीं छोड़ना चाहती और यही वजह है कि इस बार सुरक्षाबलों की संख्या बढ़ाने के साथ साथ एनएसजी कमांडो को भी यात्रियों की सुरक्षा में तैनात किया गया है।

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story