रेलवे होटल डील: CBI ने लालू-तेजस्वी को पूछताछ के लिए समन भेजा

Published by aman Published: September 7, 2017 | 12:40 pm
Modified: September 7, 2017 | 3:19 pm

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रेलवे में भ्रष्टाचार के संबंध में गुरुवार (7 सितंबर) को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव को समन भेजा है। इस संबंध में लालू यादव को पूछताछ के लिए 11 सितंबर और तेजस्वी को 12 सितंबर को नई दिल्ली स्थित मुख्यालय में पेश होने को कहा गया है।

ये भी पढ़ें …आयकर विभाग ने लालू यादव से पूछा- रैली के लिए कहां से आया पैसा?

सीबीआई ने रेलवे के दो निजी होटलों को निजी कंपनी को लीज पर देने में कथित तौर पर बरती अनियमितताओं के संबंध में लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था। यह कथित धोखाधड़ी 2004 से 2009 के दौरान की गई, जब लालू यादव रेल मंत्री थे।

ये भी पढ़ें …शिकंजे में लालू : आयकर विभाग ने राबड़ी व तेजस्वी से की पूछताछ

अवैध तरीके से लाभ पहुंचाने का आरोप
सीबीआई के मुताबिक, रेल मंत्री पद पर रहते हुए लालू ने इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) के जरिए सुजाता होटल्स को अवैध तरीके से लाभ पहुंचाया था। सीबीआई का कहना है कि निजी कंपनी को अवैध तरीके से लाभ पहुंचाया गया। रांची और पुरी में होटलों के विकास, रखरखाव और संचालन के लिए बोली प्रक्रिया में कथित धोखाधड़ी की गई, जिसके एवज में लालू को पटना में तीन एकड़ का प्लॉट रिश्वत के तौर पर दिया गया। मौजूदा समय में इस जमीन पर मॉल का निर्माण हो चुका है।

ये भी पढ़ें …ये सिर्फ रैली नहीं, तय करेगी ‘लालू परिवार’ का राजनैतिक भविष्य

सीबीआई ने दर्ज किया था मामला
सीबीआई ने पांच जुलाई को भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 120बी और भ्रष्टाचार निवारक अधिनियम की धारा 13 और 131 बी के तहत मामला दर्ज किया था।

12 जगहों पर मारे थे छापे 
सीबीआई ने भ्रष्टाचार का मामला दर्ज करने के बाद पिछले 17 जुलाई को लालू और उनके परिवार पर पटना समेत 12 जगहों पर छापे मारे थे । सीबीआई ने आपराधिक षडयंत्र रचने के तहत 120 बी और धोखाधडी को लेकर धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया है ।

ये है मामला
दर्ज प्राथमिकी के अनुसार झारखंड के रांची और उडीसा के पुरी के रेलवे के होटल को लालू प्रसाद ने रेल मंत्री रहते हुए एक निजी फर्म सुजाता होटल्स प्राइवेट लिमिटेड को दे दिया था । इसके एवज में पश्चिमी पटना में शेल कंपनी के डिलाईट मार्केटिंग के नाम 2010 से 2014 तक तीन ण्कड जमीन दी गई। डिलाईट मार्केटिंग ने बाद में इसे लारा प्राजेक्ट को ट्रांसफर कर दिया।लारा प्रोजेक्ट पर मालिकाना हक लालू प्रसाद के परिवार का है

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App