×

त्रिपुरा में गिराई गई लेनिन की मूर्ति, कई जिलों में हिंसा, गृह मंत्रालय सक्रिय

aman

amanBy aman

Published on 6 March 2018 5:30 AM GMT

त्रिपुरा में गिराई गई लेनिन की मूर्ति, कई जिलों में हिंसा, गृह मंत्रालय सक्रिय
X
त्रिपुरा में गिराई गई लेनिन की मूर्ति, कई जिलों में हिंसा, गृह मंत्रालय सक्रिय
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: त्रिपुरा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सत्ता में आते ही तेजी से बदलाव दिखने लगे हैं। लेकिन यह बदलाव राज्य के कई जिलों में हिंसा की वजह बन रहा है। खबर है कि त्रिपुरा में वामपंथी स्मारकों को तेजी से ध्वस्त किया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बीजेपी समर्थकों ने दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया में स्थापित रूसी क्रांति के नायक लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर चलाया। लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर चलाने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। गौरतलब है कि लेनिन की इस मूर्ति को 5 साल पहले ही स्थापित किया गया था। हिंसा भड़कने और मूर्ति को ध्वस्त किए जाने के बाद वामपंथी दलों में गुस्सा है।

त्रिपुरा में गिराई गई लेनिन की मूर्ति, कई जिलों में हिंसा, गृह मंत्रालय सक्रियगृहमंत्री ने की बात

त्रिपुरा के कई जिलों में हिंसा की खबर के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार (06 मार्च) को राज्यपाल और डीजीपी से बात की। साथ ही उन्होंने नई सरकार के कामकाज संभालने तक राज्य में शांति सुनिश्चित करने को कहा।

पश्चिम त्रिपुरा में धारा- 144

हिंसा की घटना को देखते हुए पश्चिम त्रिपुरा प्रशासन ने धारा- 144 लगा दी है। वहीं, वामपंथी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि विधानसभा चुनाव जीतने के बाद बीजेपी समर्थक उनके कार्यालयों को ही नहीं, बल्कि उनके नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी निशाना बना रहे हैं।

क्या है वीडियो में?

वीडियो में दिखाया कि एक बुलडोजर दक्षिण त्रिपुरा के बेलोनिया शहर में वामपंथ के अगुवा माने जाने वाले लेनिन की प्रतिमा को ढहा रहा है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में त्रिपुरा में 25 साल पुरानी वाम सर्कार को बीजेपी ने उखाड़ फेंका। अपने गठबंधन सहयोगी आईपीएफटी के साथ मिलकर बीजेपी ने यहां दो तिहाई बहुमत हासिलकर वाम किला ध्वस्त किया है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story