×

BJP प्रेसिडेंट के बेटे जय शाह की कंपनी के कारोबार की जांच हो : कांग्रेस-आप

कांग्रेस ने रविवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह पर लगे आरोपों की जांच की मांग की है। कांग्रेस ने कहा कि 2014 में भाजपा के केंद्र में सत्ता हासिल करने के बाद अमित शाह के बेटे जय अमितभाई शाह से जुड़ीं एक कंपनी का कारोबार 16,000 गुना तक बढ़ा है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 8 Oct 2017 3:36 PM GMT

BJP प्रेसिडेंट के बेटे जय शाह की कंपनी के कारोबार की जांच हो : कांग्रेस-आप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : कांग्रेस ने रविवार (08 अक्टूबर) को बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह के बेटे जय शाह पर लगे आरोपों की जांच की मांग की है। कांग्रेस ने कहा कि 2014 में बीजेपी के केंद्र में सत्ता हासिल करने के बाद अमित शाह के बेटे जय अमितभाई शाह से जुड़ीं एक कंपनी का कारोबार 16,000 गुना तक बढ़ा है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने संवाददाताओं से कहा कि कंपनी रजिस्ट्रार से मिली जानकारी से पता चला है कि टेम्पल एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड नामक एक कंपनी ने 2014-15 में सिर्फ 50,000 रुपए का कारोबार किया था, लेकिन अचानक एक साल में इस कंपनी के कारोबार में 16,000 गुना की वृद्धि देखी गई। इस कंपनी में जय शाह एक निदेशक हैं।

आम आदमी पार्टी (आप) ने भी एक संवाददाता सम्मेलन में इसी तरह का आरोप लगाया और कहा कि बीजेपी के सत्ता में आने के बाद अमित शाह के बेटे की किस्मत परवान चढ़ गई और वह खुद पार्टी प्रमुख बन गए। आप ने इस मामले की जांच कराने की मांग की है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा है कि नोटबंदी के लाभार्थी का पता आखिरकार चल गया है।

यह भी पढ़ें ... शाह के बेटे के बचाव में पीयूष, बोले- वेबसाइट पर ठोकेंगे 100 Cr. का केस

राहुल ने एक ट्वीट में कहा, "हमें आखिरकार नोटबंदी का एकमात्र लाभार्थी मिल ही गया। यह आरबीआई, गरीब या किसान नहीं है। ये नोटबंदी के शाह-इन-शाह हैं। जय अमित।"



सिब्बल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि टेम्पल एंटरप्राइजेज ने 2012 से 2013 और 2013 से 2014 तक क्रमश: 6,230 रुपए और 1,724 रुपए का घाटा दर्ज किया था। लेकिन 2014 से 15 के दौरान कंपनी ने 18,000 रुपए का लाभ दिखाया।



यह बात उल्लेखनीय है कि अगले वर्ष 2015 से 16 के दौरान कंपनी का कारोबार 80 करोड़ रुपए हो गया। इस मामले पर समाचार वेबसाइट, 'द वायर' द्वारा रिपोर्ट जारी करने के बाद कांग्रेस ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित किया था।

यह भी पढ़ें ... रेलवे का फरमान, अधिकारियों को अब नहीं मिलेगा VIP ट्रीटमेंट

सिब्बल ने कहा कि कंपनी के भाग्य में बदलाव बीजेपी के एक राज्यसभा सदस्य के एक रिश्तेदार के स्वामित्व वाली आईएफएस फाइनेंशियल सर्विसिस से बगैर किसी जमानत के 15.78 करोड़ रुपए का ऋण मिलने के बाद आया।

उन्होंने कहा, "हम केवल पीएम से इस मामले में जांच के आदेश की मांग कर सकते हैं।" आप नेता आशुतोष ने भी इन आरोपों की गहन जांच कराने और कार्रवाई करने की मांग की है।

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story