×

जेटली- गुजरात चुनाव का रिजल्ट आने दें, पता चल जाएगा लोग किसके साथ

aman

amanBy aman

Published on 15 Oct 2017 4:17 AM GMT

जेटली- गुजरात चुनाव का रिजल्ट आने दें, पता चल जाएगा लोग किसके साथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वॉशिंगटन: वित्त मंत्री अरुण जेटली इस वक्त अमेरिकी दौरे पर हैं। जीएसटी और नोटबंदी के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश में जुटे विपक्ष को उन्होंने करारा जवाब दिया है। जेटली ने कहा, कि 'गुजरात विधानसभा चुनावों के परिणाम आने दीजिए, पता चल जाएगा लोग किसके साथ हैं।'

बता दें, कि भारतीय वित्त मंत्री अरुण जेटली फिलवक्त अमेरिकी यात्रा पर हैं। इस दौरान उन्होंने वॉशिंगटन में अमेरिका-भारत रणनीतिक एवं साझेदार मंच द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को भी संबोधित किया।

यूपी चुनाव के रिजल्ट का दिया उदाहरण

इस दौरान वित्त मंत्री ने यूपी विधानसभा चुनावों के रिजल्ट का हवाला देते हुए कहा, कि 'वहां के परिणाम को सभी ने देखा।' अरुण जेटली का संदर्भ इस बात से था कि नोटबंदी के बाद हुए यूपी चुनाव में बीजेपी ने प्रचंड बहुमत हासिल किया था।

ये भी पढ़ें ...GST, नोटबंदी की सुस्ती का असर समाप्त हो चला है : जेटली

वैश्विक गिरावट के बावजूद हमने तरक्की की

जेटली ने कहा, कि जीएसटी, 'नोटबंदी जैसे फैसलों के लिए साहस की जरूरत होती है। वैश्विक स्तर पर भारत सरकार द्वारा लिए गए इन बड़े फैसलों की तारीफ हो रही है।' वित्त मंत्री ने कहा, कि 'पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था तीन सालों से गिरावट के दौर से गुजर रही है, लेकिन इस दौरान भारत की अर्थव्यवस्था तरक्की पर रही।'

कांग्रेस कर रही अवसरवादी राजनीति

अरुण जेटली ने इन कदमों की आलोचना कर रही कांग्रेस पर भी जमकर निशाना साधा। बोले, 'कांग्रेस शासित राज्यों के वित्त मंत्रियों ने जीएसटी का समर्थन किया, लेकिन पार्टी ने अवसरवादी राजनीति के तहत इसका विरोध किया।'

ये भी पढ़ें ...जेटली नी गिनाए नोटबंदी के फायदे, बोले- राजस्व संग्रह में हुई वृद्धि

H1B वीजा पर भी बोले

इस दौरान वित्त मंत्री ने H1B वीजा मुद्दे पर भी अपनी बात रखी। बोले, 'H1B वीजा पर यहां आने वाले भारतीय बेहद योग्य होते हैं। अमेरिकी अर्थव्यवस्था में वो योगदान देते हैं। इसलिए हमने अपनी चिंता जाहिर की है।'

ये भी पढ़ें ...जो लोग कह रहे नोटबंदी के बाद क्या हुआ, जवाब जेटली ने दे दिया



aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story