×

'रेपिस्ट बाबा' गुरमीत के परिवार का फैसला, बेटा जसमीत होगा डेरा प्रमुख

aman

amanBy aman

Published on 31 Aug 2017 5:10 AM GMT

रेपिस्ट बाबा गुरमीत के परिवार का फैसला, बेटा जसमीत होगा डेरा प्रमुख
X
पंचकूला: हत्या के दो मामलों में 'बलात्कारी बाबा' के खिलाफ आज फिर सुनवाई
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

सिरसा: साध्वी बलात्कार केस में 20 साल जेल की सजा दिए जाने के बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख बाबा गुरमीत राम रहीम का वारिस चुनने की कवायद शुरू हो गई है। पहले ये माना जा रहा था कि गुरमीत की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत डेरा प्रमुख होगी, लेकिन दोनों के रिश्तों के कई चेहरे सामने आए। लेकिन, अब परिवार ने तय किया है कि गुरमीत का बेटा जसमीत ही डेरा प्रमुख बनेगा।

ये भी पढ़ें ...गुनाह का हिसाब ! बलात्कारी बाबा को 10-10 साल की सजा, रो पड़ा गुरमीत

गुरमीत के 20 साल के लिए जेल चले जाने के बाद डेरे की जिम्मेदारी किसको दी जाएगी, यह तय करना काफी महत्वपूर्ण है। डेरे के पास करीब 1,100 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति है। इस मामले को लेकर राम रहीम के पैतृक गांव गुरुसर मोडिया में एक बैठक भी की गई थी, जिसमें राम रहीम के बेटे जसमीत को प्रमुख बनाने को लेकर चर्चा की गई। इस बैठक में केवल राम रहीम के परिवार के लोग ही शामिल हुए थे, जिसमें मां नसीब कौर, पत्नी हरजीत कौर और बेटा जसमीत शामिल थे।

ये भी पढ़ें ...सोने का बेड, सोने का सोफा, जाने और क्या-क्या है सोने का राम रहीम के बेडरूम में

बैठक में गोद ली गई बेटियां शामिल नहीं

बैठक में गुरमीत की गोद ली गई बेटियों को शामिल नहीं किया गया था। जसमीत को डेरा प्रमुख बनाने के लिए उसका परिवार कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। पहले कयास लगाए जा रहे थे कि राम रहीम की गोद ली गईं बेटी हनीप्रीत को डेरा प्रमुख की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। लेकिन परिवार जसमीत को डेरा प्रमुख बनाना चाहता है।

ये भी पढ़ें ...जज ने कहा राम रहीम जानवरों की तरह पेश आया तो क्यों करें इस पर रहम

मिलने के लिए परिवार ने दिया आवेदन

राम रहीम के परिवार ने उससे मिलने के लिए रोहतक जेल अधिकारियों को आवेदन दिया है। परिवार को राम रहीम से मिलने दिया जाता है तो हो सकता है कि जसमीत का डेरा प्रमुख बनना तय हो। राम रहीम से मंजूरी मिलने के बाद ही जसमीत के प्रमुख बनने पर मुहर लगेगी।

ये भी पढ़ें ...अर्श से फर्श पर: ‘बलात्कारी बाबा’ राम रहीम अब कैदी नंबर 1997

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story