×

भारतीय नौसेना को मिला सबसे घातक स्वदेशी युद्धपोत INS किलटन

Gagan D Mishra

Gagan D MishraBy Gagan D Mishra

Published on 16 Oct 2017 9:33 AM GMT

भारतीय नौसेना को मिला सबसे घातक स्वदेशी युद्धपोत INS किलटन
X
भारतीय नौसेना को मिला सबसे घातक स्वदेशी युद्धपोत INS किलटन
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

विशाखापत्तनम: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मेड इन इंडिया कार्यक्रम के तहत स्वदेशी एंटी-पनडुब्बी जहाज आईएनएस किलटन को भारतीय नौसेना को समर्पित किया है। विशाखापत्तनम के नौसिक डॉकयार्ड में नौसैनिक स्टॉफ एडमिरल सुनील लांबा की मौजूदगी में एक कार्यक्रम हुआ।

आईएनएस किलटन शिपयार्ड प्रोजेक्ट-28 के अंतर्गत बनने वाला आईएनएलकिलटन , शिवालिक क्लास, कोलकाता क्लास और आईएनएस कोमार्ता के बाद चौथा स्वदेशी निर्मित युद्धपोत है।

यह भारत का एक ऐसा पहला मुख्य युद्धपोत है जो कार्बन फाइबर से बना है और मरम्मत की लागत कम हुई है। इस युद्धपोत का वजन 3500 टन है और यह 109 मीटर लंबा है। इसमें चार डीजल इंजन लगे हैं। आधुनिक हथियार और सेंसर से लैस युद्धपोत 45 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकता है। आईएनएस किलटन युद्धपोत में रॉकेट लॉन्चर भी लगा है। यह रासायनिक, जैविक और परमाणु युद्ध के हालात में भी लड़ सकता है।

बता दें कि, INS किलटन, जोकि पूरी तरह से स्वदेशी युद्धपोत है, ये पानी के अंदर दुश्मन के किसी भी हमले को नाकाम करने मे सक्षम है। नौसेना के नेवल डिज़ाइन निदेशालय के डिज़ाइन पर गार्डनरीच शिपयार्ड ने इसे बनाया है।

Gagan D Mishra

Gagan D Mishra

Next Story