×

सुंजवां आर्मी कैंप: सेना के 5 जवान शहीद, 4 आतंकी ढेर, कार्रवाई तेज

aman

amanBy aman

Published on 11 Feb 2018 7:53 AM GMT

सुंजवां आर्मी कैंप: सेना के 5 जवान शहीद, 4 आतंकी ढेर, कार्रवाई तेज
X
सुंजवां आर्मी कैंप: आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन और तेज, गोलीबारी जारी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जम्मू: सुंजवां आर्मी कैंप पर आतंकियों के खिलाफ सेना का अभियान दूसरे दिन भी जारी है। इस हमले में अभी तक सेना के 5 जवान शहीद हुए हैं, जबकि 4 आतंकियों को मार गिराया गया है। इसके अलावा 11 अन्य लोग घायल हुए हैं। रविवार (11 फ़रवरी) को भी कैंप से फायरिंग की आवाजें आ रही हैं। भारतीय सेना के कमांडो फैमिली क्वार्टर्स के और करीब जा रहे हैं। कार्रवाई और तेज कर दी गई है।

वहीं, भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत सुंजवान सैन्य शिविर में जारी आतंक रोधी अभियान का जायजा लेने के लिए रविवार को जम्मू पहुंच गए हैं।

आर्मी आर्म्ड पर्सनल कैरियर फैमिली क्वार्टर्स के नजदीक जा रहे हैं। सेना ने फैमिली क्वार्टर्स के चारों ओर घेराबंदी को पहले से और मजबूत कर दिया है। सेना के कमांडो भी इलाके में तलाशी अभियान जारी रखे हुए हैं। सुरक्षा बलों ने शनिवार से अब तक 4 आतंकवादियों को मार गिराया है, जबकि भारतीय सेना के 5 जवान शहीद हुए हैं।

दो आतंकियों के छिपे होने की आशंका

जम्मू-कश्मीर लाइट इंफैंट्री की 36 ब्रिगेड कैंप के फैमिली क्वार्टर्स परिसर में दो आतंकियों के छिपे होने की आशंका है। इससे पहले शनिवार देर रात और रविवार तड़के आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायरिंग की। इसके बाद आर्मी कमांडो ने भी जवाबी फायर किया।

आर्मी ने इलाके की मजबूत घेराबंदी

आतंकवादियों को खत्म करने के लिए आर्मी ने इलाके की मजबूत घेराबंदी की है। साथ ही सुरक्षा बलों ने इस ऑपरेशन में चार एपीसी (आर्म्ड पर्सनल कैरियर) वाहन उतारे हैं। वहीं, पूरे प्रदेश में आतंकी हमलों की आशंका के चलते हाई अलर्ट घोषित किया गया है।

शनिवार से जारी है ऑपरेशन

बता दें, कि आतंकियों के खिलाफ करीब 30 घंटों से यह ऑपरेशन जारी है। अब तक सुरक्षाबल कैंप के भीतर रिहायशी इलाके में छिपे तीन आतंकियों को ढेर कर चुके हैं। मारे गए आतंकवादियों के पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। साथ ही पाकिस्तानी समर्थक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का झंडा भी मिला है। बताया जा रहा है कि ये सभी आतंकी सेना की वर्दी में घुसे थे।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story