×

जय शाह पर बीजेपी की छटपटाहट समझ में आती है, लेकिन RSS...

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 Oct 2017 10:37 AM GMT

जय शाह पर बीजेपी की छटपटाहट समझ में आती है, लेकिन RSS...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

भोपाल : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह के कारोबार में कथित तौर पर हुए भारी इजाफे को लेकर गरमाई राजनीति के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) एक बार फिर शाह के बचाव में सामने आया है। संघ के सर कार्यवाह सुरेश (भैयाजी) जोशी ने कहा है कि आरोप लगाने वाले न्यायालय जाएं।

ये भी देखें: जय शाह ने रतलाम में पवन चक्की पर किया 15 करोड़ निवेश

मध्य प्रदेश की राजधानी में आरएसएस की तीन-दिवसीय अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक के समापन मौके पर शुक्रवार को जोशी से जब पूछा गया कि अमित शाह के बेटे पर लगे आरोपों को लेकर संघ क्या सोचता है?

उन्होंने कहा, "किसी पर आरोप लगे, वह सही है, ऐसा मानने का कोई कारण नहीं है। आज कल आरोप कैसे लगते हैं, यह आप लोग भी जानते हैं, आरोप लगाए जाते हैं।"

ये भी देखें: मोदी का तंज- पटना विवि ने रविशंकर-रामविलास को दिया तो लालू को भी..

जोशी ने आरोप लगाने वालों को सुझाव दिया कि जो लोग आरोप लगा रहे हैं, वे न्यायालय जा सकते हैं, यहां न्यायालयी प्रक्रिया है। इस आरोप के आधार पर संघ जैसा संगठन अपनी कोई भूमिका तय करेगा, ऐसा हम नहीं मानते हैं।

इससे पहले भोपाल में ही संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने भी शाह के बेटे का बचाव किया था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story