सीएम कुमारस्वामी को मिली कैबिनेट, 25 मंत्रियों ने ली शपथ

बेंगलुरू : कर्नाटक में जनता दल (सेकुलर)-कांग्रेस गठबंधन सरकार का बुधवार को विस्तार किया गया, जिसमें 25 विधायकों को कैबिनेट मंत्री के रूप में शामिल किया गया। इनमें दोनों सहयोगी दलों के 23 विधायकों को, बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के एक तथा एक निर्दलीय विधायक को मंत्री बनाया गया है। मंत्री बनने वाले दोनों सहयोगी दलों के 23 विधायकों में कांग्रेस के 14 तथा जद (एस) के नौ विधायक शामिल हैं।

राज्यपाल वजुभाई आर. वाला ने राजभवन में मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।

ये भी देखें : कर्नाटक मंत्रिमंडल का विस्तार, यूपी के बाहर पहली बार बसपा का मंत्री

वरिष्ठ कन्नड़ अभिनेत्री और कांग्रेस की विधान परिषद सदस्य जयमाला 27 सदस्यीय मंत्रिमंडल में इकलौती महिला हैं।

बसपा के एन. महेश ने भी शपथ ली। बसपा चुनाव से पहले जद (एस) की सहयोगी है। इसके साथ ही बसपा का उसके गृह राज्य उत्तर प्रदेश के बाहर और दक्षिण भारत में पहला मंत्री बना है।

गठबंधन का समर्थन करने वाले निर्दलीय विधायक आर. शंकर भी कैबिनेट मंत्री बनाए गए हैं। कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर शंकर ने पार्टी छोड़ दी थी और उन्होंने हावेरी जिले की राणेबन्नूर विधानसभा सीट पर पूर्व कांग्रेसी विधायक के.बी. कोलीवाड को हराया था।

शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री जद (एस) के एच.डी. कुमारस्वामी और उपमुख्यमंत्री कांग्रेस के जी. परमेश्वरा के अतिरिक्त दोनों सहयोगी दलों के वरिष्ठ नेता और विधायक, वरिष्ठ पदाधिकारी मौजूद रहे।

कांग्रेस के 14 और जद (एस) के नौ विधायकों ने कन्नड़ में ईश्वर, अल्लाह, 14वीं शताब्दी के कन्नड़ समाज सुधारक बसवन्ना और माता-पिता के नाम पर शपथ ली।

कांग्रेस से आर.वी. देशपांडे, डी.के. शिवकुमार, के.जी. जॉर्ज, कृष्णा बायरे गौड़ा, शिवशंकर रेड्डी, रमेश जरकीहोली, प्रियांक खड़गे, यू.टी. अब्दुल खादर, जमीर अहमद खान, शिवानंद पाटील, वेंकट रमनप्पा, राजशेखर बसवराज पाटील, पुत्तरंगा शेट्टी और जयमाला ने मंत्रीपद की शपथ ली।

ये भी देखें : मोदी सरकार ने गन्ना किसानों और कुंभ नगरी को दी सौगात, योगी खुश

जद (एस) से एच.डी. रेवन्ना, बन्देप्पा काशेमपुर, जी.टी. देवेगौड़ा, डी.सी. तमन्ना, एम.सी. मनागुली, एस.आर. श्रीनिवास, वेंकटराव नादेगौड़ा, सी.एस. पुत्तराजू और एस.आर. महेश ने शपथ ली।

संविधान के अनुसार राज्य में 34 मंत्री या 225 सदस्यीय विधानसभा के 15 फीसदी विधायक मंत्री बन सकते हैं। इनमें एक नामित विधायक भी शामिल होता है।

सरकार के गठबंधन साझेदारों के बीच बनी सहमति के अनुसार, उपमुख्यमंत्री सहित कांग्रेस के 21 मंत्री होंगे, जबकि जद (एस) के मुख्यमंत्री सहित 11 मंत्री होंगे।

मंत्रिमंडल में बची हुईं सात रिक्तियों में कांग्रेस के हिस्से पांच और जद (एस) के हिस्से दो पद हैं।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने यहां आईएएनएस को बताया, “कुमारस्वामी संबंधित पार्टियों के नेताओं से विचार-विमर्श कर मंत्रियों को विभागों का आवंटन करेंगे।”

कुमारस्वामी और परमेश्वरा के 23 मई को शपथ ग्रहण करने के 14 दिनों बाद तथा मुख्यमंत्री द्वारा 25 मई को विश्वास मत जीतने के 12 दिनों बाद मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ है।

हासन जिले की होलेनरसीपुर विधानसभा सीट से विधायक रेवन्ना जद (एस) प्रमुख एच.डी. देवेगौड़ा के दूसरे बेटे तथा कुमारस्वामी के बड़े भाई हैं।

कलबुर्गी जिले की चित्तापुर विधानसभा सीट से विधायक प्रियांक लोकसभा में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के पुत्र हैं।

देशपांडे, जॉर्ज, शिवकुमार, बायरेगौड़ा, खड़गे, और खादर पूर्ववर्ती सिद्धारमैया के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार में भी मंत्री थे, जबकि रेवन्ना, काशेमपुर और जी.टी. देवेगौड़ा पूर्ववर्ती जद (एस)-कांग्रेस गठबंधन सरकार (2004-06) तथा जद (एस)-भाजपा गठबंधन सरकार (2006-07) में मंत्री रह चुके हैं।

दिन भर की बोरिंग ख़बरों से ऊब गए हैं… थोड़ा सा मुस्करा लीजिए 

https://www.youtube.com/watch?v=lePDqfWznUA

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App