×

चंद्रशेखर राव ने छेड़ा तीसरे मोर्चे का तराना, ओवैसी-ममता ने भरी हामी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 4 March 2018 2:19 PM GMT

चंद्रशेखर राव ने छेड़ा तीसरे मोर्चे का तराना, ओवैसी-ममता ने भरी हामी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हैदराबाद : मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के बयान का स्वागत किया है। राव ने एक बयान में कहा था कि तीसरा मोर्चा भाजपा का विकल्प हो सकता है। कांग्रेस देश में उभरकर सामने आएगी। ओवैसी ने कहा कि इस बयान का दूरगामी असर पड़ेगा। हैदराबाद के सांसद ने रविवार को संवाददाताओं से कहा कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के प्रमुख के बयान का राष्ट्रीय राजनीति पर दूरगामी असर पड़ेगा।

एमआईएम अध्यक्ष ने आशा जताई है कि केसीआर गैर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और गैर कांग्रेस दलों को एक साथ लाने में एक अहम भूमिका निभाएंगे।

ओवैसी ने माना कि केंद्र में अगली सरकार के गठन में क्षेत्रीय पार्टियां मुख्य भूमिका निभाएंगी।

ये भी देखें : कांग्रेस मुक्त मेघालय, 29 में से 22 राज्‍यों में बीजेपी की सरकार !

उन्होंने कहा कि देश क्षेत्रीय पार्टियों और भाजपा व कांग्रेस के लिए विकल्प पेश कर रही पार्टियों की ओर रुख कर रहा है।

एमआईएम नेता ने कहा कि टीआरएस अध्यक्ष द्वारा दिया गया बयान प्रोत्साहक है, क्योंकि देश में इस समय बहुत खालीपन है।

सांसद ने कहा, "उन्होंने सही कहा कि लोग भाजपा शासन से ऊब चुके हैं और कांग्रेस एक व्यवहार्य विकल्प नहीं बन रही है और न ही यह वैसी हो सकती है।"

ओवैसी ने केसीआर की सराहना करते हुए कहा कि देश को उनके जैसा नेता और उनकी जैसी सोच की जरूरत है। मुख्यमंत्री कल्बकुंतल चंद्रशेखर राव 'केसीआर' नाम से प्रसिद्ध हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि केसीआर ने काफी संघर्ष किया है और खुद को एक राजनेता और एक प्रभावशाली मुख्यमंत्री के तौर पर साबित किया है।

ओवैसी ने कहा कि केसीआर ने न केवल तेलंगाना राज्य हासिल कर खुद को साबित किया है, बल्कि जो लोग तेलंगाना को विफल राज्य मान रहे थे, उन्हें भी गलत साबित किया है।

ओवैसी ने कहा, "केसीआर के पास क्षमता और योग्यता है। उन्होंने पिछले चार साल के दौरान तेलंगाना में सर्वश्रेष्ठ शासन दिया है और तेलंगाना को एक विकासशील और देश का नंबर एक राज्य बनाया है।"

सांसद आवैसी ने मानना कि केसीआर के पास राजनीतिक बुद्धिमानी और दूरदर्शिता है।

केसीआर के तीसरे मोर्चे के प्रस्ताव को ममता का समर्थन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को अपने तेलंगाना समकक्ष के. चंद्रशेखर राव को टेलीफोन कर भाजपा और कांग्रेस के विकल्प के रूप में तीसरे मोर्चे के गठन की योजना को समर्थन देने की बात कही। तृणमूल कांग्रेस नेता ने तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) प्रमुख से बात की और समान विचारधारा वाली पार्टियों को साथ लाने की उनकी योजना पर साथ देने की बात कही।

मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, ममता ने उन्हें बताया कि वह उनकी बात से पूर्णरूप से सहमत हैं और उनके साथ काम करने के लिए तैयार हैं।

सीएमओ ने उनके हवाले से कहा, "हम आप से सहमत हैं। आपके साथ रहेंगे।"

केसीआर नाम से मशहूर टीआरएस प्रमुख कल्बकुंतल चंद्रशेखर राव ने शनिवार को कहा था कि भारतीय राजनीति में गुणात्मक बदलाव की जरूरत है और उन्होंने समान सोच वाली सभी पार्टियों को साथ लाने के लिए तैयार होने की बात कही थी।

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी केसीआर को टेलीफोन कर अपनी एकजुटता प्रकट की थी। उन्होंने राष्ट्रीय राजनीति में मुख्य भूमिका निभाने के लिए केसीआर के फैसले का स्वागत किया था।

टीआरएस प्रमुख को विभिन्न क्षेत्र के लोगों से समर्थन मिल रहा है।

तेलंगाना के सभी हिस्सों से लोग अपना समर्थन दिखाने के लिए प्रगति भवन पहुंच रहे हैं। प्रगति भवन मुख्यमंत्री का आधिकारिक आवास है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story