×

बिहार: 9 बच्चों को कुचलने वाले मनोज बौठा पर गरमायी सियासत, SIT गठित

aman

amanBy aman

Published on 27 Feb 2018 5:36 AM GMT

बिहार: 9 बच्चों को कुचलने वाले मनोज बौठा पर गरमायी सियासत, SIT गठित
X
बिहार: मनोज बैठा पर गरमायी सियासत, 9 बच्चों को कुचलने वाला अब भी फरार
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पटना: मुजफ्फरपुर में सड़क हादसे में 9 बच्चों की मौत का मुख्य आरोपी मनोज बैठा अभी तक पुलिस गिरफ्त से बाहर है। आशंका जताई जा रही है कि मनोज बैठा नेपाल भाग गया है। वहीं इस मुद्दे पर अब बिहार की सियासत गरमाने लगी है। राष्ट्रीय जनता दल इस मुद्दे को भुनाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही है। हालांकि, राज्य की सत्ताधारी में नीतीश की साझेदार बीजेपी ने मनोज बैठा को 6 साल के लिए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है।

बावजूद इसके राजद नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इस मामले में बीजेपी और नीतीश सरकार को घेरा है। तेजस्वी का आरोप है कि जब राज्य में शराबबंदी लागू है तो फिर बीजेपी नेता ने कैसे मदिरापान किया? राजद का ये भी आरोप है कि नीतीश सरकार मनोज बैठा को बचाने की कोशिश कर रही है।

मनोज की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी गठित

दूसरी तरफ, मुजफ्फरपुर में मनोज बैठा की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। मुजफ्फरपुर के एसएसपी विवेक कुमार ने 5 सदस्यों की एसआईटी गठित की है। इसका नेतृत्व सिटी एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा करेंगे।

बैठा का मोबाइल जब्त

गौरतलब है कि जिस कार ने 9 बच्चों को कुचला था, उससे पुलिस ने एक मोबाइल भी जब्त किया है। बताया जा रहा है कि यह मोबाइल मनोज बैठा का है। मनोज बैठा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने सीतामढ़ी के फतेहपुर में भी छापेमारी कर रही है। पुलिस का मानना है कि इस घटना में मनोज बैठा को चोटें आई थी। इस वजह से इलाके के अस्पतालों में भी उसकी तलाश की जा रही है। मगर मनोज बैठा अब भी फरार है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story