×

#MeToo: अकबर पर सरकार खामोश, स्मृति ईरानी ने कही बड़ी बात

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 Oct 2018 12:51 PM GMT

#MeToo: अकबर पर सरकार खामोश, स्मृति ईरानी ने कही बड़ी बात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों पर अभीतक जहां केंद्र सरकार चुप्पी साधे हुई थी। वहीं अब केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि जिस व्यक्ति पर सवाल उठे हैं उसे ही इसका जवाब देना चाहिए। मुझे उम्मीद है कि आवाज उठाने वाली महिलाओं को न्याय मिलेगा।

ये भी देखें : न्यूज पोर्टल द क्विंट के सह-संस्थापक राघव बहल के घर-दफ्तर पर आईटी की रेड

केंद्रीय मंत्री ने कहा, 'जिस व्यक्ति पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं, उस व्यक्ति को ही इस बारे में स्पष्टीकरण देना चाहिए क्योंकि जब ये घटनाएं हुईं तो मैं वहां उपस्थित नहीं थी। मुझे यह देखकर खुशी हो रही है कि मीडिया अपने महिला साथियों के साथ खड़ा है। यौन उत्पीड़न की घटनाओं को सामने लाने वाली महिलाओं का न तो मजाक उड़ाना और न ही उन्हें शिकार बनाया जाना चाहिए।'

मंत्री ने कहा, 'महिलाएं कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न का शिकार होने नहीं जाती हैं। वे अपने सपनों को पूरा करने और एक सम्मानित जीवन जीने के लिए जाती हैं। मुझे उम्मीद है कि जो महिलाएं आज आवाज उठा रही हैं उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।'

ये भी देखें : यहां आचार संहिता क्या लागू हुई, जमीन पर उतर आया मोदी का स्वच्छ भारत

वहीं नौ महिला पत्रकारों के साथ यौन दुर्व्यवहार के आरोपों से घिरे अकबर पर इस्तीफे के दबाव की खबर को केंद्र सरकार के हमारे सूत्रों ने खारिज कर दिया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story