×

मोदी सरकार करने वाली है MPhil और PhD से जुड़े नियमों में बड़े बदलाव

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 Oct 2018 3:09 PM GMT

मोदी सरकार करने वाली है MPhil और PhD से जुड़े नियमों में बड़े बदलाव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : मानव संसाधन विकास मंत्रालय विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के वर्ष 2016 के एक नियम में जल्द ही बदलाव करने जा रहा है। रिपोर्ट्स के अनुसार, केंद्र सरकार ‘एमफिल व पीएचडी डिग्री की न्यूनतम मानक और प्रकिया नियामक 2018 में जल्द दूसरा सुधार करने वाली है।

क्या होगा नया

नए नियम के मुताबिक प्रवेश परीक्षा में छात्र को 70 प्रतिशत अंक मिलेंगे जबकि 30 प्रतिशत अंक इंटरव्यू में मिलेंगे। फिलहाल लिखित परीक्षा से अभ्यर्थी सिर्फ इंटरव्यू के लिए ही योग्य होता है। इसके बाद इंटरव्यू द्वारा निर्णय किया जाता है कि छात्र को एम. फिल और पीएचडी कोर्स में दाखिला दिया जाए नहीं।

ये भी देखें : AMU विवाद: पूर्व सीएम महबूबा ने कहा- मन्‍नान वानी आतंकी नहीं पीडि़त है

विभागीय सूत्रों के मुताबिक मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस सुधार को अपनी मंजूर दे दी है और अगले सात दिनों में इसे मान्यता मिल जाएगी। जैसे ही ये नियम लागू होगा देश के सभी विश्वविद्यालयों को इसके बारे में सूचनाएं दे दी जाएंगी।

ये भी देखें :#MeToo: प्रिया के खिलाफ कोर्ट पहुंचे अकबर, दायर किया मानहानि का मामला

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story