×

माफिया से माननीय बने मुख्तार अंसारी को मिली 15 दिन की पैरोल, कर सकेंगे चुनाव प्रचार

माफिया से राजनीतिज्ञ बने मुख्तार अंसारी को गुरूवार (16 फरवरी) को नई दिल्ली की सीबीआई अदालत ने 15 दिन (17 फरवरी से 4 मार्च) का पेरोल दिया है।

tiwarishalini
Updated on: 16 Feb 2017 11:43 AM GMT
माफिया से माननीय बने मुख्तार अंसारी को मिली 15 दिन की पैरोल, कर सकेंगे चुनाव प्रचार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

यूपी विधानसभा चुनाव- 2017: मुख्तार अंसारी को मिला पेरोल, कर सकेंगे चुनाव प्रचार

नई दिल्ली: माफिया से माननीय बने मुख्तार अंसारी को गुरूवार (16 फरवरी) को दिल्ली की सीबीआई कोर्ट ने 15 दिन (17 फरवरी से 4 मार्च) का पैरोल दिया है। मुख्तार अब जल्द ही चुनाव प्रचार करे सकेंगे। बता दें, कि यूपी विधानसभा चुनाव- 2017 के लिए मुख्‍तार अंसारी मऊ सदर विधानसभा सीट से बसपा प्रत्याशी भी हैं। कोर्ट के इस आदेश से मुख्तार समर्थकों में खुशी है।

यह भी पढ़ें ... बाहुबली मुख्तार अंसारी को निर्दोष बताने पर मायावती के खिलाफ आपराधिक अवमानना याचिका दाखिल

मुख्तार अंसारी पर कुल 13 आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं। इन मुकदमे में हत्या, मारपीट, हत्या के प्रयास सहित गैंगस्टर आदि के विभिन्न जिलों के मुकदमे शामिल हैं। मुख्तार अंसारी फिलहाल आगरा जेल में बंद हैं। वहीं उनका बड़ा बेटा खुद मऊ जिले की घोसी विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहा है।

अगली स्लाइड में जानिए कितनी है मुख्तार अंसारी की संपत्ति ...

मुख्तार अंसारी की संपत्ति

-मुख्तार अंसारी के पास चल संपत्ति के रुप में 5 लाख 75 हजार 31 रुपए है।

-वहीं उनकी पत्नी के पास 84 लाख 38 हजार 735 रुपए हैं।

-बड़े बेटे अब्बास अंसारी के पास 41,76,635 रुपए और बेटे उमर के पास 1,36,422 रुपए की संपत्ति हैं।

-अचल संपति के नाम मुख्तार अंसारी के पास दो करोड़ 43 लाख रुपए है।

-पत्नी के पास 11 करोड़ 62 लाख रुपए है।

-बेटे अब्बास के पास 4 करोड़ रुपए है।

-दूसरे बेटे उमर के पास ढाई करोड़ रुपए की संपत्ति हैं।

यह भी पढ़ें ... आखिर कौन है माफिया डॉन मुख्‍तार अंसारी, जानें क्‍या है इनका इतिहास

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story