×

PNB: कर्ज चुकाने में नीरव मोदी ने खड़े किए हाथ, कहा- हमसे ना हो पाएगा

aman

amanBy aman

Published on 20 Feb 2018 4:38 AM GMT

PNB: कर्ज चुकाने में नीरव मोदी ने खड़े किए हाथ, कहा- हमसे ना हो पाएगा
X
PNB: कर्ज चुकाने में नीरव मोदी ने खड़े किए हाथ, कहा- हमसे ना हो पाएगा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) महाघोटाले में के बाद सीबीआई और ईडी की कार्रवाई लगातार जारी है। इस बीच नीरव मोदी ने पीएनबी को लोन का पैसा चुकाने से साफ इंकार कर दिया है। नीरव की पीएनबी को लिखी एक चिट्ठी सामने आई है जिसमें उसने कहा है कि मामले को सार्वजनिक कर लोन की रकम चुकाने के सारे रास्ते बंद कर दिए हैं। इस वजह से उनके वयापार को काफी नुकसान हुआ है। इस स्थिति में अब उनके लिए पैसा चुकाना संभव नहीं है।

देश से फरार नीरव मोदी ने पीएनबी को लिखी इस चिट्ठी में कहा है, कि उनके ऊपर बकाया रकम 5,000 करोड़ रुपए से कम है। लेकिन अब वो इसे चुकाने की स्थिति में नहीं हैं। अब देखने वाली बात ये होगी कि केंद्र सरकार इस मामले में क्या कार्रवाई करती है।

अब तक 5,716 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त

इस बीच सोमवार को ये जानकारी भी सामने आयी थी कि नीरव इस वक़्त सऊदी अरब में है। इधर, देशभर में सीबीआई और ईडी कई जगहों पर छापेमारी की। इनमें मुंबई, सूरत, पुणे, बिहार सहित कुल 37 ठिकाने थे। इस बीच खबर ये भी है कि नीरव मोदी को बचाने में उनकी लीगल टीम जुटी हुई है। जांच एजेंसियों ने घोटाला सामने आने के बाद से ही उसकी संपत्तियों और ठिकानों पर कार्रवाई में जुटी हुई हैं। अब तक इस सिलसिले में 5,716 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त की जा चुकी हैं। साथ ही नीरव को भारत लाने के लिए जरूरी कार्रवाई पर भी काम शुरू कर दिया गया है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story