×

निर्मला सीतारमण ही नहीं, इन देशों में भी रक्षा की कमान है महिला हाथों में

aman

amanBy aman

Published on 3 Sep 2017 10:23 AM GMT

निर्मला सीतारमण ही नहीं, इन देशों में भी रक्षा की कमान है महिला हाथों में
X
निर्मला सीतारमण ही नहीं, इन देशों में भी रक्षा की कमान है महिला हाथों में
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: देश की नई रक्षा मंत्री की कमान निर्मला सीतारमण को सौंपी गई है। इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी देश की पहली रक्षा मंत्री के तौर पर यह जिम्मेदारी संभाल चुकी हैं। हालांकि, दुनियाभर के विभिन्न देशों को देखें तो यह कोई पहला मौका नहीं है जब किसी देश की महिला को रक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बता दें, कि पहली बार 1960 में श्रीलंका ने श्रीमावो भंडारनायको को रक्षा मंत्रालय की कमान सौंपकर इसकी शुरुआत की गई थी। 1980 में पीएम रहते हुए इंदिरा गांधी इस जिम्मेदारी को निभा चुकी हैं। इसके अलावा मौजूदा समय में दुनिया के 15 देशों में महिलाएं रक्षा मंत्री के तौर पर काम कर रही हैं।

ये भी पढ़ें ...निर्मला बनीं नई रक्षा मंत्री, पीयूष को रेल की कमान, देखें पूरी लिस्ट

जर्मनी: देश के इतिहास में पहली बार साल 2013 में ओजोला फर्द वॉन लायेन को रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। इससे पहले वह अन्य मंत्रालयों में मंत्री रह चुकी हैं। बता दें कि ओजोला को जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल का उत्तराधिकारी माना जाता है।

ये भी पढ़ें ...PM मोदी ने फिर दिखाई एक तीर से कई निशाने साधने की कला

इटली: इटली में 2014 से रॉबर्टा पिनोट्टी रक्षा मंत्री के पद पर तैनात हैं। पहले लेफ्ट नेता और बाद में डेमोक्रैट पार्टी के साथ जाने वाली पिनोट्टा हाल में अंग्रेजी में मंत्रालय का प्रचार जारी करने के लिए विवाद में थी।

आगे की स्लाइड में पढ़ें और किन देशों में रक्षा की कमान महिला के हाथों में है ...

बांग्लादेश: शेख हसीना देश की पीएम के साथ-साथ रक्षा मंत्री का कार्यभार भी संभाले हुए हैं। देश की चार दशक से भी लंबे राजनीतिक सफर में शेख हसीना बांग्लादेश की सबसे ताकतवर राजनीतिक शख्सियत हैं।

फ्रांस: हाल ही में फ्रांस में हुए चुनावों के बाद राष्ट्रपति इमैनुअल मैकरॉन की सरकार में भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद रक्षा मंत्री के इस्तीफे के चलते फ्लोरेंस पार्ली को देश का नया रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया है।

ये भी पढ़ें ...शेखावत और हेगड़े को मंत्री बना, मोदी ने धूम धड़ाके का किया तगड़ा इंतजाम, कैसे?

स्पेन: मारिया डोलोरेस दि कोस्पेदाल सत्तारूढ़ पीपुल्स पार्टी की सेक्रेटरी जनरल को नवंबर 2016 में देश का रक्षा मंत्री बनाया गया था। स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजॉय ने डोलोरेस को रक्षा का कार्यभार दिया।

ऑस्ट्रेलिया: देश की लिबरल पार्टी की सिनेटर मरीस एन पेन को टर्नबुल सरकार ने साल 2015 में रक्षा मंत्रालय की कमान सौंपी थी। इससे पहले पेन दोनों टर्नबुल और टोनी एबॉट सरकार में मानव संसाधन मंत्री के पद पर नियुक्त थीं।

ये भी पढ़ें ...मोदी कैबिनेट : कांग्रेस ने नए और प्रमोट मंत्रियों को बताया अयोग्य

स्लोवेनिया: यूरोपीय देश स्लोवेनिया में एंद्रेजा कटिक अभी देश की सुरक्षा का जिम्मा संभाले हुए हैं। एंद्रेजा ने हाल ही में ईराक के एर्बिल शहर में आईएसआईएस लड़ाकों से लड़ने के लिए देश की सेना को लगाने का आदेश दिया था।

इनके अलावा दक्षिण अफ्रीका, रिपब्लिक ऑफ मैसिडोनिया, नीदरलैंड, निकारागुआ, केन्या, अल्बानिया, नॉर्वे और बॉस्निया एंड हर्जेगोविना में भी रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी महिला के हाथ में है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story