×

पूर्वोत्तर के भावनात्मक एकीकरण की कोशिश में सरकार : मोदी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 4 March 2018 1:03 PM GMT

पूर्वोत्तर के भावनात्मक एकीकरण की कोशिश में सरकार : मोदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि उनकी सकार पूर्वोत्तर के भावनात्मक एकीकरण की दिशा में कार्य कर रही है और एकीकरण से ही उग्रपंथी विचारों से मुकाबला किया जा सकता है। मोदी वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए कर्नाटक के तुमाकुरु में 'यूथ पावर: ए विजन फॉर न्यू इंडिया' थीम पर आधारित युवा सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।

मोदी ने कहा, "पिछले चार साल से केंद्र सरकार पूर्वोत्तर के भावनात्मक एकीकरण की दिशा में काम कर रही है और सरकार को इसमें सफलता मिली है।"

तुमाकुरु में सम्मेलन का आयोजन यहां विवेकानंद आश्रम की रजत जयंती पर किया गया था, जिसे यादगार बनाने के लिए स्वामी विवेकानंद के शिकागो व्याख्यान की 125वीं वर्षगांठ और सिस्टर निवेदिता की 150वीं जयंती मनाई गई।

मोदी ने कहा कि वह युवाओं से मिलकर उनकी उम्मीदों व आकांक्षाओं को जानने की कोशिश करते हैं और उस दिशा में काम करते हैं। उन्होंने कहा कि इस उत्सव का मुख्य मकसद विवेकानंद को याद करना है।

ये भी देखें : कांग्रेस मुक्त मेघालय, 29 में से 22 राज्‍यों में बीजेपी की सरकार !

उन्होंने कहा कि स्वाधीनता संग्राम के दौरान स्वतंत्रता हासिल करने के लिए विभिन्न स्तरों पर संयुक्त संकल्प लिया गया था। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपनी ऊर्जा का उपयोग राष्ट्र निर्माण में करना चाहिए।

मोदी ने युवाओं के वास्ते अवसर बढ़ाने के लिए सरकार के कदमों का जिक्र किया और कहा कि उन्होंने मुद्रा योजना, स्वरोजगार और कौशल विकास जैसे कदम उठाए।

उन्होंने कहा कि आज के युवा अतीत से शिक्षा लेकर बेहतर वर्तमान और भविष्य का निर्माण करने की कामना रखते हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story