इंदौर: दाऊदी बोहरा समुदाय की तारीफ में बोले PM, दी राष्ट्रभक्ति की मिसाल

इंदौर (मध्य प्रदेश): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एकदिवसीय प्रवास पर शुक्रवार को इंदौर पहुंचे। इस प्रवास के दौरान पीएम मोदी ने दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात की। प्रधानमंत्री का यह प्रवास लगभग एक घंटे 20 मिनट का होगा। ऐसी स्थिति में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं और ड्रोन कैमरे व सीसीटीवी से नजर रखी जा रही है।

दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु के कार्यक्रम में PM हुए शामिल

बता दें, यहां पीएम मोदी ने हज़रत इमाम हुसैन की शहादत के स्मरणोत्सव ‘अशरा मुबारका’कार्यक्रम में भाग लिया। वैसे तो ऐसा पहली बार हुआ है जब देश के प्रधानमंत्री ने किसी प्रवचन कार्यक्रम में हिस्सा लिया हो। मगर पीएम मोदी के इस कार्यक्रम में शामिल होने के पीछे का कारण एक राजनीतिक मुद्दा बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: इंदौर: सैफी मस्जिद पहुंचे PM मोदी, मंच पर बोहरा धर्मगुरु संग मौजूद

राजनीतिक विशेषज्ञयों की मानें तो मोदी का इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने के पीछे एक मकसद है। दरअसल, मोदी ने बोहरा के बहाने शिया मुस्लिमों को अपने साथ जोड़ने की कवायद की है। यही नहीं, इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने बोहरा समाज की राष्ट्रभक्ति की मिसाल भी दी।

इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने ये भी कहा कि बोहरा समाज ने हमेशा से शांति का पैगाम रहा है। उन्होंने आगे कहा कि हमें दुनिया से जो बात सबसे अलग बनाती है, वो यही है कि हम हमेशा शांति का संदेश देते हैं। इसलिए दुनिया को बोहरा समाज हमारे देश की ताकत बता रहा है।

कौन हैं धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन?

दाऊदी बोहरा समुदाय के सैयदना 53वें धर्मगुरु हैं, उनके 12 सितंबर से यहां धार्मिक प्रवचन चल रहे हैं। सैयदना पहली बार इंदौर आए हैं, इससे पहले उनका सूरत में आना हुआ था। सैयदना के पिता अपने जीवनकाल में दो बार इंदौर आए थे।