×

क्या आप जानते हैं! सिर्फ 50 हजार कैश रखने वाले करोड़पति PM हैं नरेंद्र मोदी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 18 Sep 2018 10:11 AM GMT

क्या आप जानते हैं! सिर्फ 50 हजार कैश रखने वाले करोड़पति PM हैं नरेंद्र मोदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : पीएमओ ने पीएम नरेंद्र मोदी की चल-अचल संपत्ति का ब्योरा सर्वजनिक किया है। इसके मुताबिक पीएम मोदी के पास साल 2017 में लगभग डेढ़ लाख की नगदी थी। जो अब सिर्फ 48 हजार 944 रुपये ही बची है।

ये भी देखें : BHU जनसभा: काशी की अव्यवस्था को चौतरफा विकास में बदलना है- मोदी

पीएम मोदी की कुल चल-अचल संपत्ति की बात करें तो ये तकरीबन 2.28 करोड़ की है। इसमें करीब एक करोड़ 28 लाख की चल और गांधीनगर में कुछ अचल संपत्ति भी है। पीएम ने वर्ष 2002 में एक लाख रुपये की कीमत से 3531.45 स्क्वायर फीट की संपत्ति का क्रय किया था।

गुजरात के गांधीनगर की एसबीआई ब्रांच में पीएम का अकाउंट है। इसमें ग्यारह लाख उन्तीस हजार छ: सौ नब्बे रुपये हैं। साथ ही पीएम ने 1,07,96,288 रुपए के फिक्स्ड डिपाजिट भी करवाए हैं।

ये भी देखें : सीलबंद घर का ताला तोड़ने पर मनोज तिवारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पीएम के पास इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड डिपोज़िट 20,000 रुपए के हैं। 5,18,235 रुपए नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट में 1,59,281 रुपए एलआईसी में इन्वेस्ट किए हैं।

मोदी के पास 4 सोने की अगूंठी (कुल वजन 45 ग्राम) हैं जिनकी कीमत लगभग 1 लाख 38 हजार है। पीएम ने किसी भी बैंक से कोई लोन नहीं लिया है। इसके साथ ही उनके पास कोई भी वाहन नहीं है।

देखें आकड़ें

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story