×

तोगड़िया : अगला आंदोलन 'राम मंदिर नहीं तो वोट नहीं' के नारे के साथ

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Oct 2018 12:08 PM GMT

तोगड़िया : अगला आंदोलन राम मंदिर नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

फैजाबाद : लोकसभा चुनाव सिर पर सवार हैं, ऐसे में अयोध्या और राम मंदिर को लेकर नेताओं में प्रेम चरम तक पहुंच चुका है। बीजेपी नेता जहां मंदिर मुद्दे को केंद्र में ले आए हैं। वहीं अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद सुप्रीमो प्रवीण तोगड़िया भी ताल ठोंक रहे हैं। तोगड़िया ने अयोध्या में कहा कि अब अगला आंदोलन 'राम मंदिर नहीं तो वोट नहीं' के नारे के साथ होगा।

आपको बता दें, फैजाबाद जिला प्रशासन ने तोगड़िया को सरयू तट पर सभा की अनुमति नहीं दी थी इसके बाद भी वो सभा करने पहुंचे थे।

ये भी देखें :तेल में खेल कर रही केजरीवाल सरकार, जानिए टैक्स वसूली का सच

क्या कहा तोगड़िया ने

अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद सुप्रीमो ने कहा कि 32 साल से आरएसएस, बीजेपी और वीएचपी एक ही मुद्दे को लेकर राम मंदिर का आंदोलन चला रहे थे कि संसद में कानून बनाकर राम मंदिर बने, लेकिन अब जब यही लोग पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में हैं तो राम मंदिर का दर्शन तक करने नहीं आते।

ये भी देखें : भाजपा सांसद के बगावती तेवर, कहा-अयोध्या में राम मंदिर की जगह बने गौतम बुद्ध का मंदिर

बीजेपी पर बड़ा हमला

तोगड़िया ने कभी अपनी सहयोगी रही भाजपा पर बड़ा हमला क्रेट हुए कहा, दिल्ली में 500 करोड़ का बीजेपी ऑफिस बनवा लिया, लेकिन रामलला आज भी टाट में ही हैं।'

ये भी देखें : गिरिराज सिंह का बयान- प्रभु राम के वंशज हैं भारत के मुसलमान

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story