राफेल विवादः भाजपा ने अब राबर्ट वाड्रा को लपेटा, चहेती कंपनी को डील दिलाने के प्रयास का आरोप

नई दिल्‍ली: राफेल डील पर उठा तूफान थमने का नाम नहीं ले रहा है। अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हमले के बीच भाजपा ने एक बार फिर राहुल गांधी पर पलटवार किया है। पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा है कि राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा का जेल जाना तय है। उन्होंने इस संबंध में दो सबूत दिखाए। इनमें रॉबर्ट वाड्रा के लंदन स्थित 19 करोड़ के घर की तस्वीर और वाड्रा का ज्यूरिख के लिए टिकट शामिल है।

कमीशन का है पूरा खेल

पात्रा ने दावा किया कि ऐसा कोई भ्रष्टाचार नहीं जिसकी आंच कांग्रेस तक न जाए। कांग्रेस को कमीशन नहीं मिलने के चलते राफेल पर विवाद किया जा रहा है। भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि वाड्रा ने अपने दोस्त संजय भंडारी के साथ मिलकर एक कंपनी बनाई थी। संजय भंडारी और दासौ के बीच तालमेल नहीं होने से यह डील यूपीए सरकार के कार्यकाल में नहीं हो सकी थी। संजय भंडारी के यहां मिले दस्तावेजों से ही यह खुलासा हुआ था कि वाड्रा की इस में संलिप्तता है। केंद्र में भाजपा सरकार आने के बाद संजय भंडारी पर कार्रवाई हो रही है। रॉबर्ट वाड्रा पर भी शिकंजा कसता जा रहा है। पात्रा ने तो यहां तक कहा कि वाड्रा एक दिन जरूर जेल जरूर जाएंगे। इस संबंध में बिहार के राजद नेता लालू यादव का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि लालू ने भी चारा घोटाला किया, इसके लिए उन्हें जेल जाना ही पड़ा भले ही इसमें बीस साल लगे। 2016 में हथियारों के दलाल भंडारी के घर, दफ्तर पर रेड हुई. रेड में रक्षा मंत्रालय के दस्तावेज, रक्षा सौदे के गोपनीय दस्तावेज उनके घर से मिले।

2016 में पड़े थे छापे, कई संदिग्‍ध ई मेल बरामद

शहंशाहों की तरह रहने वाले हाई प्रोफाइल संजय भंडारी के घर 2016 में छापे पड़े थे। यहां से तमाम गोपनीय कागजात मिले थे जिसमें कई ईमेल भी शामिल थे। इनमें संजय भंडारी, उनके रिश्तेदार सुमित चड्ढा, राबर्ट वाड्रा की बातचीत व 19 करोड़ के घर की डिटेल्स है। भाजपा का यह भी आरोप है कि एक मिलियन स्विस फ्रैंक (स्विस करंसी) संजय भंडारी को राफेल डील के लिए मिला था। यूबीएस बैंक की ज्यूरिख ब्रांच में ओआईएस अकाउंट नंबर 52105058250 में ये पैसा दिया गया। पात्रा ने आरोप लगाया कि संजय भंडारी के मार्फत वाड्रा के पास ये पैसा आया। भाजपा ने यह भी आरोप लगाया है कि कांग्रेस को कमीशन न मिलने के कारण वह इस मुद्दे पर विवाद खड़ा कर रही है।