×

शिवसेना को कोर्ट पर भरोसा नहीं, राम मंदिर मामले में अदालत कुछ नहीं करेगी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 29 Oct 2018 1:54 PM GMT

शिवसेना को कोर्ट पर भरोसा नहीं, राम मंदिर मामले में अदालत कुछ नहीं करेगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई : शिवसेना ने सोमवार को कहा कि अयोध्या मामले में अदालत कुछ नहीं करेगी। पार्टी ने मांग करते हुए कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने इस मामले की सुनवाई अगले वर्ष जनवरी तक टालने पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा, "हमने 25 वर्ष पहले अदालत से पूछ कर मंदिर नहीं गिराई थी। हमारे हजारों कारसेवकों ने अदालत से पूछ कर अपनी जान नहीं गंवाई थी। हमने अयोध्या आंदोलन शुरू करने से पहले अदालत की इजाजत नहीं ली थी।

ये भी देखें :भव्य राम मंदिर को लेकर हिंदुओं का धर्य जवाब दे रहा : गिरिराज

उन्होंने कहा, "हम अयोध्या में राम मंदिर चाहते हैं। हम पाकिस्तान या करांची में राम मंदिर बनाने की मांग नहीं कर रहे हैं। हमारी मांग भगवान राम के अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की है।"

ये भी देखें :सबरीमाला मंदिर की तरह ही राम मंदिर पर भी सुप्रीम कोर्ट को अपना फैसला देना चाहिए: योगी

उन्होंने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे जल्द ही अयोध्या जाएंगे और इस मामले में देश के समक्ष अपने विचार रखेंगे।

ये भी देखें : 7 बातें उस Black Box की, जो प्लेन क्रैश के बाद सबसे पहले याद आता है

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story