×

अज़ान के वक्त PM ने भाषण रोकने पर आजम का तंज-'...ये अल्लाह का खौफ है'

aman

amanBy aman

Published on 4 March 2018 9:53 AM GMT

अज़ान के वक्त PM ने भाषण रोकने पर आजम का तंज-...ये अल्लाह का खौफ है
X
आजम खान की फ़ाइल फोटो
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: अपने बयानों से अकसर सुर्खियों में रहने वाले सपा के कद्दावर नेता आजम खान ने एक बार फिर पीएम मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने अज़ान के वक्त पीएम मोदी द्वारा अपने भाषण को रोकने की वजह 'अल्लाह का खौफ' बताया। आजम खान बोले, 'ये तुष्टिकरण नहीं, अल्लाह का खौफ है। क्योंकि उन्होंने जो भी बातें यहां की हैं, उनमें बहुत सी बातें ऐसी हैं जो किसी भी इस्लामिक स्टेट में हो सकती थीं।'

इसके अलावा आजम नोटबंदी और गोश्तबंदी पर भी पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। आजम बोले, 'मुसलमानों के पास कितना पैसा है, ये पूरा देश जानता है। देश में जिन लोगों के पास नोटों का बड़ा जखीरा था उसे मोदी जी ने छीन लिया है।'

मुसलमान को सड़ा-गला गोश्त खिलाया जाता था

सपा नेता ने कहा, मुसलमान को सड़ा-गला ना जाने किस-किस जानवर का गोश्त खिला दिया जाता था, लेकिन अब मोदीजी की सख्ती से मुसलमानों ने गोश्त खाना तकरीबन छोड़ दिया है।

...तो दो मिनट रुकें

गौरतलब है, कि शनिवार को पूर्वोत्तर के तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद पीएम मोदी जीत के जश्न के लिए पार्टी कार्यालय पहुंचे थे। पीएम मोदी ने जैसे ही भाषण शुरू किया तभी पास के मस्जिद में अज़ान शुरू हो गई। इस पर पीएम ने कहा, 'अज़ान का वक्त है, दो मिनट रुकें।' इसके बाद वे दो मिनट तक वहीं शांत खड़े रहे।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story