Top

शत्रुघ्न का फिर PM पर वार, कहा- बहुत हुआ पाकिस्तान, लौटें विकास मॉडल पर

aman

amanBy aman

Published on 11 Dec 2017 9:36 AM GMT

शत्रुघ्न का फिर PM पर वार, कहा- बहुत हुआ पाकिस्तान, लौटें विकास मॉडल पर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: अकसर अपने बयानों और ट्वीट से विवादों में रहने वाले बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने सोमवार (11 दिसंबर) को पीएम मोदी से राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ 'अनसुलझे और अविश्वसनीय' कहानियां गढ़ने को लेकर सवाल उठाए। गौरतलब है, कि पीएम मोदी ने एक दिन पहले ही कांग्रेस नेताओं पर पाकिस्तानी उच्चायुक्त के साथ बैठक करने का आरोप लगाया था, जिसके बाद सिन्हा की यह टिप्पणी आई है।

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, 'सर, कैसे भी करके चुनाव जीतने के लिए, वह भी चुनावी प्रक्रिया के अंतिम क्षणों में, क्या यह जरूरी है कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ हर रोज नए अनसुलझे और अविश्वसनीय कहानियों के साथ सामने आया जाए?' सिन्हा ने एक ट्वीट में कहा, 'अब उन्हें पाकिस्तानी उच्चायुक्त और जनरलों के साथ जोड़ दिया! अतुलनीय।'

ये भी पढ़ें ...शत्रुघ्न बोले-‘पद्मावती’ पर PM मोदी की चुप्पी को बहुत देर हो गई



मोदी ने उठाये थे गंभीर आरोप

दरअसल, पीएम मोदी ने रविवार को आरोप लगाया था कि कांग्रेस नेताओं के एक समूह ने मणिशंकर अय्यर के घर पर पाकिस्तान के उच्चायुक्त के साथ बैठक की थी। साणंद में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, कि अय्यर के आवास पर हुई बैठक में पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी शामिल हुए थे।

अय्यर के आवास पर हुई थी बैठक

कांग्रेस पर निशाना जारी रखते हुए मोदी ने कहा था, कि 'अय्यर के आवास पर एक बैठक हुई थी, जिसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त, पाकिस्तान के विदेश मंत्री, अंसारी और मनमोहन सिंह मौजूद रहे थे। बैठक करीब तीन घंटे तक चली थी। बैठक के अगले दिन मणिशंकर ने मुझे 'नीच' कहा।' अय्यर को इस टिप्पणी के लिए कांग्रेस ने अपनी प्राथिमक सदस्यता से तुरंत निलंबित कर दिया था। उन्होंने अपनी टिप्पणी के लिए माफी भी मांग ली थी।

वादों की तरफ ध्यान दें जो किए गए थे

सिन्हा ने पीएम को सलाह दी, कि उन्हें सांप्रदायिकता का माहौल बनाने के बजाए 2014 के आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा किए गए वादों के तरफ लौट जाना चाहिए। उन्होंने कहा, 'सर, नई कहानियों, आवरणों, घुमाव व मोड़ों के बजाए, सीधे वादों की तरफ ध्यान दें जो किए गए थे। जिनमें हमने आवास, विकास, युवाओं को रोजगार, स्वास्थ्य, 'विकास मॉडल' की बात कही थी।'



पटना साहिब से बीजेपी सांसद ने दूसरे ट्वीट में कहा, 'सांप्रदायिकता का माहौल बनाना बंद करें और स्वस्थ राजनीति व स्वस्थ चुनाव की तरफ वापस लौटें। जय हिंद।' पूर्व केंद्रीय मंत्री सिन्हा को मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ मुखरता से बोलने के लिए जाना जाता है।

आईएएनएस

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story