×

अरे जनाब! किसानों के नहीं.. यहाँ तो विधायकों के 'अच्छे दिन', वेतन हुआ दोगुना

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 19 July 2017 1:07 PM GMT

अरे जनाब! किसानों के नहीं.. यहाँ तो विधायकों के अच्छे दिन, वेतन हुआ दोगुना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने बुधवार को राज्य के विधायकों की तनख्वाह दोगुनी से ज्यादा बढ़ाकर 105,000 प्रति माह कर दी। विधायकों के वेतन में यह वृद्धि एक ऐसे अवसर पर हुई है जब राज्य के किसान दिल्ली में कर्ज माफी के लिए प्रदर्शन कर चुके हैं। राज्य के मुख्यमंत्री इदाप्पादी के. पलानीस्वामी ने विधानसभा को बताया कि विधायकों को इस समय प्रतिमाह 50,000 रुपये वेतन प्राप्त हो रहा है। बेसिक और अन्य भत्तों में वृद्धि के कारण यह अब इससे दोगुना हो जाएगा।

पूर्व विधायकों की प्रतिमाह पेंशन 12,000 से बढ़ाकर 20,000 रुपये कर दी गई है। यह बदलाव 1 जुलाई, 2017 से लागू होगा।

पलानीस्वामी ने राज्य के मुख्यमंत्री, मंत्रियों और विधानसभा स्पीकर के भत्तों में 25,000 रुपये प्रतिमाह की वृद्धि करने की भी घोषणा की।

ये भी देखें:मोदी जी सुनिए! इस साल 172 आतंकवादी हमले, 38 जवान शहीद विधानसभा के उपाध्यक्ष, विपक्ष के नेता और मुख्य सचेतक के भत्तों में भी वृद्धि की गई है। अब यह वृद्धि के साथ 47,500 रुपये प्रति माह हो गए हैं।

विधानसभा क्षेत्र विकास निधि को 50 लाख से बढ़ाकर 2.50 करोड़ रुपये कर दिया गया है।

हालांकि, हाल ही में कर्ज माफी की मांग को फिर से उठाते हुए राज्य के किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी में दोबारा विरोध प्रदर्शन किया। कुछ महीने पहले सरकार द्वारा उनके मामले को देखे जाने का आश्वासन मिलने के बाद उन्होंने अपना प्रदर्शन रोक दिया था। राज्य के किसान कर्ज माफी और अपने उत्पादों के लिए बेहतर कीमतों की मांग कर रहे हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story