×

Bacchon ko Padhane ka Tarika: बच्चों का नहीं लग रहा पढ़ाई में मन, तो अपनाएं यह टिप्स

Bacchon ko Padhane ka Tarika: आजकल ज्यादातर बच्चे खेलने कूदने में ही रह जाते है। ऑनलाइन क्लासेज होनी की वजह से छोटे बच्चे के हाथों में भी मोबाइल देना पड़ता है।

Rakshita Srivastava
Written By Rakshita SrivastavaPublished By Divyanshu Rao
Updated on: 28 Nov 2021 3:16 PM GMT
Bacchon ko Padhane ka Tarika: बच्चों का नहीं लग रहा पढ़ाई में मन, तो अपनाएं यह टिप्स
X

पढ़ाई करते बच्चे की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Bacchon ko Padhane ka Tarika: कोरोना (Corona) महामारी में लॉकडाउन होने की वजह से काफी समय तक बच्चों के स्कूल बंद पड़े थे। जिसकी वजह से कई बच्चों का पढ़ाई से मन हट सा गया है। सभी माता पिता आजकल इसी बात को लेकर चिंतित रहते है कि उनके बच्चे का पढ़ने में मन नहीं लगता है। लेकिन पढ़ाई बहुत ही जरूरी होती है। पढ़ाई के बिना आजकल कुछ नहीं हो सकता है।

मोबाइल और कम्प्यूटर में बीतता है ज्यादा समय

bacchon ko kaise padhaye - आजकल ज्यादातर बच्चे खेलने कूदने में ही रह जाते है। ऑनलाइन क्लासेज होनी की वजह से छोटे बच्चे के हाथों में भी मोबाइल देना पड़ता है। जिस पर बच्चे पढ़ने से ज्यादा गेम खेलने के लिए इस्तेमाल करते हैं। बच्चों का ज्यादातर समय मोबाइल, कम्प्यूटर में ही बीतता है।

आइए आज हम आपको बताते है कि अगर बच्चे का पढ़ने में मन नहीं लग रहा है तो क्या करें।

पढ़ाई करते बच्चे की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

माता-पिता खुद को भी बदले

How To Teach Small Kids In Hindi - अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे का पढ़ने में मन लगे (baccho ki padhai me man lagane ke upay) तो सबसे पहले आपको बदलना होगा। माता-पिता बच्चों को पढ़ाते समय ज्यादातर उनके गलती पर बच्चों को डाटने लगते हैं जिससे बच्चे डर जाते है और पढ़ाई से दूर भागने लगते हैं। अगर उनको समझ में नहीं आ रहा फिर भी आप उनको न डांटे। बच्चों को पढ़ाई इन्जॉय करने दें। खेलते-खेलते बच्चों को पढ़ाएं, जिससे उनका भी इसमें मन लगें।

दूसरों से न करें अपने बच्चों की तुलना

अपने बच्चों की नंबरो की तुलना दूसरे बच्चों से कभी न करें। अपने बच्चों के सामने दूसरे बच्चों की तारीफ न करें। आपका बच्चा जितना भी नंबर लेकर आया है उसी में आप उसकी तारीफ करें. ऐसा करने से बच्चा खुश होगा और पढ़ाई में भी मन लगाएगा।

टाइम टेबल करें सेट

bacchon ko padhane ke tips - बच्चों के पढ़ने के लिए एक टाइम टेबल सेट करें, और कोशिश करें कि आप उसी के अनुसार अपने बच्चे को पढ़ाएं। टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करने से बच्चे में वह नियम बन जाएगा और वो रोज उस तरह से पढ़ना शुरू कर देगा।

लगातार पढ़ने के लिए न करें फोर्स

बच्चों को लगातार पढ़ने के लिए कभी भी फोर्स न करें। अगर आप लगातार उनको पढ़ने के लिए बोलती है तो वह ज्यादा देर पढ़ाई में कंसन्ट्रेट नहीं कर पाते हैं। इसलिए बीच-बीच में उनको गैप भी देते रहें।

खेल-कूद का भी बनाएं समय

बच्चों के लिए खेल-कूद का भी समय निश्चित करें, जितना बच्चों के लिए पढ़ाई जरूरी है उतना ही उनके लिए खेल-कूद भी जरूरी हैं।

बनाएं एक स्टडी जोन

बच्चों के पढ़ाई के लिए एक स्टडी जोन बनाएं. जहां पढ़ते वक्त उनको कोई परेशान न करें। साथ ही वह मोबाइल कम्प्यूटर से दूर रह सकें।

बच्चों की करें तारीफ

आपका बच्चा जब भी कोई अच्छा काम करें स्कूल में उसका रिजल्ट आएं, तो उसको कुछ न कुछ इनाम जरूर दें। हमेशा अपने बच्चे की गलती ही न निकाले। उसके अच्छाई को बढ़ावा दें। हमेशा अपने बच्चों की तारीफ करें।

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story