Top

बदलते मौसम में रखें, अपने नाजुक से दिल का खास ख्याल

seema

seemaBy seema

Published on 24 Nov 2017 8:40 AM GMT

बदलते मौसम में रखें, अपने नाजुक से दिल का खास ख्याल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

डॉ. नवीन जामवाल

कार्डियोलॉजिस्ट

लखनऊ। शरीर में हार्ट का महत्वपूर्ण रोल होता है। एक बार हृदय रोग हो जाए तो वह कई बीमारियों को भी जन्म दे सकता है जैसे मधुमेह, हाई ब्लड प्रेशर और कैंसर आदि। इसलिए सबको कोशिश करनी चाहिए कि हार्ट स्वस्थ रहे। इसके लिए कुछ बातों पर ध्यान देने की जरूरत होती है ।

डेली लाइफ में बदलाव लाएं

अपने दैनिक जीवनशैली में कुछ बदलाव कर व्यक्ति लंबे समय तक स्वस्थ रह सकता है। ऐसा खासतौर पर हृदय की सेहत के लिए बेहद जरूरी है। इसलिए दिनचर्या में वजन कण्ट्रोल कर, हेल्दी फूड खाकर और व्यायाम कर स्वस्थ रहकर हृदय को भी मजबूत रखा जा सकता है।

वजन नियंत्रित रखें

उम्र-लंबाई के अनुसार यदि आपका वजन है तो यह सेहतमंद होने का संकेत है। सामान्य व्यक्ति का वजन बीएमआई के अनुसार होना चाहिए। वजन नियंत्रित रखने के लिए कुछ बातों को ध्यान में रखें। जैसे- वजन के अनुसार बीएमआई और शरीर के लिए कितनी कैलोरी जरूरी है, जानकारी रखें। हर खाद्य पदार्थ के पीछे एक कैलोरी टैग लगा होता है जिसे देखकर कैलोरी की मात्रा को बनाए रखें। अगर आपका वजन मानक से अधिक है तो पता करें और उसी हिसाब से लाइफ स्टाइल तय करें ताकि वजन कम हो सके।

यह भी पढ़ें: HEALTH: आप भी पाले हैं बालों से जुड़ें ये भ्रम तो इसे अब कर लें दूर

हेल्दी डाइट

स्वस्थ रहने का सबसे अच्छा मन्त्र है हेल्दी डाइट। क्यों कि खराब खानपान की आदतों से बिगड़ी सेहत को कसरत से सुधारना मुश्किल है। कुछ बातों को ध्यान में रखें। इसलिए हो सके तो दिनभर की डाइट में 3-4 चम्मच से ज्यादा चीनी न लें। इससे डोपामाइन हार्मोन अधिक स्रावित होता है जो इंसुलिन बढ़ाकर शरीर में वसा को जमाता है। कम शुगर या प्राकृतिक मीठी चीजें खाएं। जैसे गुड़ अदि खा सकते हैं।

गेहूं से बनी चीजें खूब खाएं लेकिन गेहूं के विकल्प जैसे सूजी, मैदा, नूडल्स आदि को कम ही खाएं। अगर परहेज कर सकें तो और अच्छा होगा। क्योंकि इनमें ग्लूटेन होता है जो रक्त में शुगर की मात्रा और आंतरिक अंगों में वसा को बढ़ाता है। इनके बजाय कभी कभार बाजरा, ज्वार, मक्का, चना, रागी आदि खाएं। भोजन से पहले सलाद और छाछ लेकर भी रोटी की मात्रा घटा सकते हैं। सर्दी के मौसम से डाइट में प्रोटीन ज्यादा लें। इसके लिए अंकुरित अनाज, राजमा/ दाल, पनीर, टोफू, सूखे मेवे (बादाम, अखरोट), मूंगफ ली आदि खाएं।

8-10 गिलास पानी जरूरी

शरीर में पानी की कमी न होने दें। कई बार लोगों को लगता है कि सर्दी में कम पानी की जरूरत होती है लेकिन ऐसा नहीं है। सर्दी में भी पानी की उतनी जरूरत रहती है जितनी की गर्मी में। शरीर में पानी की कमी होने से कई समस्याएं हो सकती हैं। इससे बचाव के लिए कम से 8-10 गिलास पानी रोज पीना चाहिए। अगर कोई समस्या है तो पानी को हल्का गुनगुना कर भी पी सकते हैं.।

30 मिनट नियमित व्यायाम जरूरी

हार्ट और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित व्यायाम जरूरी होता है। दिनचर्या में शरीर में कैलोरी कम करने वाले व्यायाम शामिल करें। ताकि ०हृदय को ताकत मिल सके। रोजाना कम से कम 30 मिनट अपने शरीर के लिए दें और कम से कम एक हजार कदम पैदल चलने की आदत डालें। सिटिंग जॉब का समय निश्चित करें। लगातार या लंबे समय तक अपने बैठने के समय में 50 प्रतिशत कमी से कई रोगों की आशंका को कम किया जा सकता है। व्यायाम में निरंतर बदलाव करें, किसी एक व्यायाम की आदत न डालें। योगा के अलावा डांस करें और किसी खेल को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। इससे शरीर का संतुलन बना रहेगा। कोर वर्कआउट पर ध्यान दें यानी एब, कूल्हे, पीठ के ऊपरी और निचले हिस्से की मजबूती पर काम करें।

राम मनोहर लोहिया संस्थान, लखनऊ

seema

seema

सीमा शर्मा लगभग ०६ वर्षों से डिजाइनिंग वर्क कर रही हैं। प्रिटिंग प्रेस में २ वर्ष का अनुभव। 'निष्पक्ष प्रतिदिनÓ हिन्दी दैनिक में दो साल पेज मेकिंग का कार्य किया। श्रीटाइम्स में साप्ताहिक मैगजीन में डिजाइन के पद पर दो साल तक कार्य किया। इसके अलावा जॉब वर्क का अनुभव है।

Next Story