Top

Infertility: इन आदतों को छोड़ दें, नहीं तो मां बनने से रह जाएंगी वंचित

शादी के बाद मां बनने का सपना हर महिला देखती है । आज कल की लाइफस्टाइल और खानपान के चलते महिलों के हार्मोनल को असंतुलित कर दिया है ।

Monika

MonikaBy Monika

Published on 2 April 2021 10:42 AM GMT

Infertility: इन आदतों को छोड़ दें, नहीं तो मां बनने से रह जाएंगी वंचित
X

pregnant woman (फाइल फोटो )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: शादी के बाद मां बनने का सपना हर महिला देखती है । यह उसके जीवन का सबसे बड़ा सुख होता है । लेकिन आज कल की लाइफस्टाइल और खानपान के चलते महिलों के हार्मोनल को आसंतुलित कर दिया है । देर रात काम, तनाव, पार्टियों में शराब पीना जिससे महिलाएं इनफर्टिलिटी की शिकार हो जाती हैं ।

प्रजनन क्षमता को प्रभावित करती हैं ये चीज़ें

एक्सपर्ट के अनुसार, शरीर में पोषक तत्वों की कमी, शरीर का वजन, शारीरिक या मानसिक तनाव, नशीली दवाओं का प्रयोग आदि करना महिलाओं में प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है । शोध के अनुसार, स्मोकिंग करना भी बांझपन का महत्वपूर्ण कारण बन रहा है । गर्भनिरोधक गोलियों का बार बार इस्तेमाल करने से भी गर्भधारण करने में परेशानी हो सकती है । ये दवाएं किसी भी महिला के प्राकृतिक हार्मोन के उत्पादन में दिक्कत पैदा कर सकती हैं जिससे गर्भपात का खतरा बना रहता है ।

गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है

महिलाओं में बांझपन के कई कारण होते है । जिसमे से एक है फैलोपियन ट्यूब में सेक्सुअली ट्रांस्मिट डिजीज या महिला को सर्जरी की वजह से इंफेक्शन हो जाता है तो यह गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है । इसके अलावा महिलाओं में बांझपन की एंडोमेट्रियोसिस से हो सकती है । एंडोमेट्रियोसिस (जिसमें महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत ज्यादा दर्द होता है) यह सबसे सामान्य कारणों में से एक है ।

बांझपन का ये भी एक कारण

इसके अलावा मोटापा, अनियमित पीरियड्स से भी महिलाओं में बांझपन का कारण बन रहा हैं । इसके लिए महिलाओं को अपने खान पान पर काफी ध्यान देना होगा और मोटापे को कंट्रोल करना होगा । बता दें, नशीले पदार्थ का सेवन जैसे शराब और तंबाकू, महिलाओं में प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है । इन सभी चीजों से महिलानों को बचन चाहिए । साथ ही स्ट्रेस फ्री हो होना बहुत ज़रूरी है । जिसके लिए उन्हें नियमित रूप से योगा, मेडिटेशन और एक्सरसाइज करते रहना चाहिए ।

Monika

Monika

Next Story