सैलून जाने से पहले जान लें ये बातें, वरना पड़ जाएंगे मुसीबत में

सैलून में काम करने वाले हर कर्मचारी का हर दिन टेंपरेचर चेक किया जाए और अगर किसी व्यक्ति को बुखार या जुकाम जैसी समस्या है तो उसे छुट्टी दी जाए। कर्मचारियों के साथ ग्राहकों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग लागू की जाए। कर्मचारी और ग्राहक मास्क पहनें। हाथ और पैर की सैनिटाइजिंग की जाये।

लॉकडाउन के अगले चरण की शुरुआत हो चुकी है। सरकार ने इस लॉकडाउन में लोगों को  कुछ शर्तों और सावधानी बरतने की सलाह के साथ नाई की दुकान, सैलून, पार्लर और स्पा आदि खोलने की इजाजत दे दी गई है। लॉकडाउन की वजह से लोगों को बाल कटवाने के लिए काफी इंतजार करना पड़ा। इस वजह से नाई की दुकानें आदि खुलने पर वहां एकदम भीड़ जुटने की आशंका बनी हुई है। पहले भी नाई की दुकानें आदि से कोरोना वायरस संक्रमण को रफ्तार पकड़ने की खबरें देखी जा चुकी हैं।  अब सवाल ये है कि क्या सैलून में सेफ्टी के पुख्ता इंतजाम हैं या नाई की दुकान पर जाना सुरक्षित है कि नहीं।

 क्या है गाइडलाइन

छूट प्राप्त दुकानों में काम करने वाले या वहां आने वाले लोगों को सार्वजनिक जगहों व कार्यस्थल पर फेस मास्क पहनना अनिवार्य है।
सार्वजनिक जगहों या कार्यस्थल पर थूकना दंडनीय अपराध होगा और इसके लिए जुर्माना लगाया जाएगा
दुकानों या कार्यस्थल पर सभी कर्मचारियों और लोगों के बीच फिजिकल डिस्टेंसिंग का सही तरह पालन किया जाएगा और ग्राहकों के बीच कम से कम 6 फुट या दो गज की दूरी रखी जाएगी।
एक समय पर एक दुकान में 5 से ज्यादा लोग मौजूद नहीं हो सकते। कर्मचारियों और वहां आने वाले ग्राहकों या लोगों के शारीरिक तापमान की जांच और सैनिटाइजर का इस्तेमाल किया जाएगा।
कार्यस्थल और हैंडल या दरवाजों जैसी जगहों की नियमित रूप से सफाई की जाएगी।

सैलून में सुरक्षा के इंतजाम

सैलून में काम करने वाले हर कर्मचारी का हर दिन टेंपरेचर चेक किया जाए और अगर किसी व्यक्ति को बुखार या जुकाम जैसी समस्या है तो उसे छुट्टी दी जाए। कर्मचारियों के साथ ग्राहकों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग लागू की जाए। कर्मचारी और ग्राहक मास्क पहनें। हाथ और पैर की सैनिटाइजिंग की जाये। ग्राहकों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली हर चीज डिस्पोजेबल हो। हर इक्विपमेंट और वस्तु को इस्तेमाल के बाद सैनिटाइज करना जरूरी हो।  हर कर्मचारी और ग्राहक के लिए मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप का होना जरूरी होना चाहिए। वर्क स्टेशन को रोजाना सैनिटाइज किया जाए। ग्राहकों के लिए एक डिजीटल रेट कार्ड की व्यवस्था की जाए ।

 इन बातों का  रखें ध्यान

शेविंग या कटिंग करते हुए ग्राहक की त्वचा पर कट लग जाता है तो उसे तुरंत बहते पानी से घाव को साफ करें और अपने हाथों में दस्ताने पहने रखें।

इसके अलावा, एंटीसेप्टिक क्रीम या लोशन का इस्तेमाल करें।

कर्मचारी  दस्ताने पहनकर कार्य करें। दस्ताने निकालने के बाद उसे किसी प्लास्टिक की थैली में रखें और फिर बैग को सील करके बंद डस्टबिन में फेंक दें।

कर्मचारियों के एप्रन हर ग्राहक के लिए बदले जाएँ हर चेयर को ग्राहक के बेथने के पहले सैनिटाइज़ किया जाये

सैलून में सभी इंतजाम  देख लेने और सुनिश्चित होने के बाद ही वहाँ जाएँ।

नीलमणिलाल की रिपोर्ट

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App