×

मोर पंख दूर करेगा सारी परेशानी, 4 और 10 नंबर जरूर पढ़ें!

शत्रु से परेशान हैं, मोर के पंख पर हनुमान जी के मस्तक के सिंदूर से मंगलवार या फिर शनिवार को उसका नाम लिखकर अपने घर के मंदिर में रात भर रखें। अगली सुबह उठकर बगैर नहाए उसे चलते पानी में प्रवाहित कर दें।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 7 Sep 2019 10:49 AM GMT

मोर पंख दूर करेगा सारी परेशानी, 4 और 10 नंबर जरूर पढ़ें!
X
मोर पंख दूर करेगा सारी परेशानी, 4 और 10 नंबर जरूर पढ़ें!
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : वास्तुविद् बाबा जागेश्वर पांडे कहते हैं कि वास्तुशास्त्र पर विश्वास करने से सभी दुःख दूर होते हैं। उनके मुताबिक मोर पंख किसी भी वास्तुदोष को दूर करने के काम आता है। तो आइए जानते हैं कि वो कौन से उपाय हैं।

यह भी पढ़ें: सुन लो पाकिस्तान, भारत से पहले इन देशों के मिशन भी हुए हैं फेल

  1. कुंडली में दोष हो तो सोते समय तकिए के नीचे मोर पंख रखकर सोएं।
  2. पढ़ाई में मन नहीं लगता तो किताब के मध्य में मोर पंख रखें।
  3. बीमार रहते हैं तो सुबह स्नान के बाद शरीर पर मोर पंख फेरें।
  4. धन हानि होती है धन रुकता नहीं है तो जहां धन रखते हैं वहां मोर पंख रखें।
  5. मोर पंख घर के पूर्वी और उत्तर-पश्चिम दीवार में लगाने से राहू परेशान नहीं करता।
  6. नौकरी में तनाव हो, शत्रु परेशान कर रहे हों तो बेडरूम में पूर्व या फिर उत्तर पूर्व के कोने में मोर पंख रख दें।
  7. प्रेम संबंध मधुर नहीं हैं तो बेडरूम में मोर पंख ऐसी जगह रख दें जहां से सुबह आंख खोलते सबसे पहले वो नजर आए।
  8. बच्चा होने वाला हो तो भगवान कृष्ण का बालरूप चित्र जिसमें मोर पंख भी हो वो गर्भवती के रूम में रक्खें।
  9. कालसर्प वाले व्यक्ति को अपने तकिये के खोल के अंदर 7 मोर के पंख सोमवार की रात को रखना चाहिए और उसी तकिए पर सोना चाहिए।
  10. शत्रु से परेशान हैं, मोर के पंख पर हनुमान जी के मस्तक के सिंदूर से मंगलवार या फिर शनिवार को उसका नाम लिखकर अपने घर के मंदिर में रात भर रखें। अगली सुबह उठकर बगैर नहाए उसे चलते पानी में प्रवाहित कर दें।

यह भी पढ़ें: LOC पहुंचे इमरान! पाकिस्तान की ये नई चाल, सीमा पर अलर्ट भारतीय सेना

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story