काम की जगह जब होने लगे इनसे प्यार तो खुद को कैसे संभालेंगे आप, जानिए ये TIPS

आज युवा घरों से दूर जाकर जॉब कर रहे हैं और प्रोफेशन लाइफ में आज हर कोई बिजी है। चाहे वो गर्ल्स हो या ब्वॉयज। सब अपन घरों से दूर रहकर शहरों में नौकरियां कर रहे हैं। ऐसे में दूर देश में रहने वाले उनके साथी, उनके कलीग्स ही वहां उनके अपने होते हैं। इसमें जेंडर भी मायने नहीं रखता है।

Published by suman Published: February 27, 2020 | 6:49 am

लखनऊ: आज युवा घरों से दूर जाकर जॉब कर रहे हैं और प्रोफेशन लाइफ में आज हर कोई बिजी है। चाहे वो गर्ल्स हो या ब्वॉयज। सब अपन घरों से दूर रहकर शहरों में नौकरियां कर रहे हैं। ऐसे में दूर देश में रहने वाले उनके साथी, उनके कलीग्स ही वहां उनके अपने होते हैं। इसमें जेंडर भी मायने नहीं रखता है। ज्यादातर मेल-फीमेल फ्रेडंसशिप कॉमन होती है। ऐसे मामलों में प्यार और इश्क के बारे में सुनना भी कॉमन होता है। किसी को अपने ऑफिस में ही किसी लड़की से प्यार हो जाता है। किसी को लड़के से। वैसे कल तक तो प्यार-मोहब्बत के किस्से कॉलेज में सुनने को मिलते थे, लेकिन कॉलेज के बाद अब ऑफिस कभी आपने सोचा है कि ऑफिस में शुरू हुए रिश्ते का असर आपके ऑफिस के माहौल पर किस तरह पड़ता है।

 

यह पढ़ें…खुलासा: इस भारतीय लड़की के प्यार में ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल, जल्द करेंगे शादी

वहीं कई ऑफिस में एचआर पॉलिसी के मुताबिक जोड़ों को एक साथ काम करने तक की अनुमित नहीं होती है। तो कइयों में नो ऑफिस रोमांस और नो डेटिंग पॉलिसी लागू है। जिसके चलते कई बार दोनों में से किसी एक को जॉब छोड़नी पड़ जाती है। माना कि कोई एचआर पॉलिसी किसी के इमोशंस को नहीं रोक सकती। ऐसे में आपके लिए जरूर बन जाता है कि फिर आप अपने ऑफिस के रिलेशन को थोड़ा संभलकर हैंडल करें, क्योंकि नजदीकी रिश्तों के ऑफिस में कोई जगह नहीं होती। ऐसे में ऑफिस में शुरू हुए रिलेशन को कैसे हैंडल करें और कैसे ऑफिस में सिर्फ ऑफिशियल बन कर रहें। ये जानिए….

इमेज पर ना पड़ने दें प्यार का असर
साधारणतया ऑफिस में कलीग्स से महिलाओं को प्यार करने से बचना चाहिए। इससे ऑफिस में बनी उनकी इमेज पर बुरा असर पड़ता है और आपकी काम पर भी असर पड़ता है। साथ ही लोग अपने काम पर फोकस भी नहीं कर पाते है।

रिश्ते को सावधानी से निभाएं
कुछ प्राइवेट सेक्टर में प्यार करना गलत हैं। इससे साथ में काम करने वालों के प्रमोशन और प्रोफाइल पर भी असर पड़ता है। साथ ही, अगर रिलेशनशिप में रहने वाले शादी के लिए सीरियस हैं तो इससे कंपनी को भी फायदा होता है। दोनों एक ही कंपनी से जुड़े होने पर कंपनी को भी प्राथमिकता देते हैं।  आगे चलकर ऐसे रिलेशन में परेशानी भी होती है। जिसे सावधानी से हैंडल करना चाहिए।

ऑफिस रुल को करें फॉलो
वैसे तो सभी लोग करियर कॉन्शियस है। अपने ऑफिस में डेटिंग का प्लान करने से पहले ऑफिस की पॉलिसी को भी जान लेना चाहिए। कोई अगर आपके प्रस्ताव को मना करे तो उससे इस बारे में दोबारा से बात नहीं करनी चाहिए।

भावनाओं को रखें काबू
वैसे तो शुरू से प्यार पर पहरा रहा है। कभी परिवार का तो कभी समाज का।ऐसे ऑफिस में प्यार करने पर मनाई हो तो आपको इसे फॉलो करना चाहिए। फिर भी दिल है कि मानता नहीं और अपने कलीग्स को दिल दे बैठे है तो पहले खुद को रोकें और भी दिल ना माने तो दोनों को अपनी भावनाओं पर संयम रखना चाहिए। प्यार करें, पर कोशिश करें कि आपके सिवा किसी और को आपके रिलेशन के बारे  में तबतक ना पता चले जब तक की आपके रिश्ते को एक मुकाम ना मिल जाए।

दूसरा जॉब ढूंढे
अगर ऑफिस के कलीग्स से  प्यार हो जाए और आपके ऑफिस में ये आलऊ नहीं है तो अपने रिश्ते को नाम देने से पहले अपने लिए दोनों में से कोई एक जॉब ढूंढ ले ताकि अगर कोई आप पर सवाल उठाएं तो आपके पास दूसरा ऑप्शन हो।

 

छिपाकर रखें

ऑफिस में किसी के साथ अफेयर चल रहा है तो इसे जितना हो सके उतना छिपाकर रखें क्योंकि अगर ऐसा नहीं करते हैं तो यह चर्चा का विषय बन सकता है। हर किसी की ज़ुबान पर सिर्फ रिलेशनशिप की बात चल रही होती है। जब तक रिश्ते में हैं तब तक तो यह बात बुरी नहीं लगेगी। लेकिन जिस दिन आपका ब्रेकअप हो जाएगा, तब यह बातें आपको काफी चोट पहुंचा सकती हैं।

 

यह पढ़ें…रात में सोने से पहले पार्टनर को न दिखाएं मर्दानगी, करो कुछ ऐसा रिश्ते में बढ़े प्यार

ऑफिस अफेयर

ऑफिस में अफेयर चल रहा है और लोगों को यह पता है तो हो सकता है कि आपके ऊपर रोक टोक बढ़ जाए। ऑफिस अफेयर के उजागर होने के बाद हर किसी की नजर आप पर ही रहती है। इसी वजह से संभव है कि आपके ऊपर रोक टोक बढ़ जाए और इसका असर आपके रिश्ते पर भी पड़े। इसलिए, ऑफिस अफेयर में अपना पर्सनल स्पेस दूर रखें और वहां अपने प्यार को बीच में न आने दें।

असुरक्षा की भावना

एक रिश्ते में रहते वक्त असुरक्षा की भावना होना जायज है। ऐसे में जब आप अपने ऑफिस में किसी से ज्यादा हंस-बोल कर बातें करते हैं तो इससे आपके पार्टनर को असुरक्षा की भावना हो सकती है। इसकी वजह से ऑफिस में आपका दायरा सिमट भी सकता है।