जानें आखिर क्या होता है बैकअप पार्टनर, लड़कियां करती हैं इसका ज्यादा यूज़

आजकल रिलेशन में असुरक्षा की भावना लगभग सभी कपल्स में देखें को मिलती है। रिलेशनशिप से लेकर शादी तक के रिश्ते में लोग एक-दूसरे पर भरोसा करने से डरते हैं कि उनका पार्टनर हमेशा उनका साथ देगा कि नहीं।

लखनऊ: आजकल रिलेशन में असुरक्षा की भावना लगभग सभी कपल्स में देखें को मिलती है। रिलेशनशिप से लेकर शादी तक के रिश्ते में लोग एक-दूसरे पर भरोसा करने से डरते हैं कि उनका पार्टनर हमेशा उनका साथ देगा कि नहीं। फिर चाहें वो गर्लफ्रेंड-ब्वॉयफ्रेंड और लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप ही क्यों न हो।

अब रिलेशनशिप में प्लान बी बनाया जाने लगा है

क्या कभी आपने इस सुना हैं कि अब रिलेशनशिप में प्लान बी बनाया जाने लगा है। प्लान बी यानी बैकअप पार्टनर। एक स्टडी में इस बात की जानकारी आई है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, लगभग 50 फीसदी महिलाएं अपने ब्रेकअप के समय के लिए एक बैकअप प्लान रखती हैं। जिसका मतलब ये है कि महिलाओं के दिमाग में अक्सर एक दूसरे पुरुष का भी ख्याल रहता है, जिसे वो ब्रेकअप के बाद प्लान बी का यूज़ करती हैं।

ये भी देखें:धूमधाम से मना शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह, राज्यपाल आनंदीबेन भी रहीं मौजूद

चौंकाने वाली बात ये है कि दूसरा आप्शन रखने के मामले में रिलेशनशिप में रहनी वाली महिलाओं की अपेक्षा शादीशुदा महिलाएं ज्यादा आगे होती हैं।

क्या होता है ये बैकअप पार्टनर ?

एक स्टडी के मुताबिक, ज्यादातर मामलों में ये कोई पुराना दोस्त हो सकता है जिसके दिल में उस महिला के लिए पहले से ही कोई खास फीलिंग रही हो। या एक्स ब्वॉफ्रेंड या एक्स हसबैंड भी हो सकता है। स्टडी की मानें तो दूसरे आप्शन के तौर पर ऑफिस का कोई सहकर्मी या जिम फ्रेंड भी महिलाओं के दिमाग में रहते हैं।

इस सर्वे में करीब 1000 महिलाओं ने हिस्सा लिया और इनमें से ज्यादातर महिलाओं का कहना था कि वो कोई ऐसा प्लान बी चाहती हैं जिसे वो लंबे समय से जानती हों।

वहीं, हर 10 में से किसी 1 महिला का कहना था कि उनके बैक-अप पार्टनर अपनी भावनाओं का इजहार पहले ही कर चुके हैं। ज्यादतर महिलाओं का ये भी कहना था कि मौजूदा रिलेशनशिप में ही उन्हें इस बात का अंदाजा है कि इसके बाद कौन उनका प्लान बी बन सकता है।

ये भी देखें:हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने अयोध्या के फैसले पर न्यायालय का सम्मान करने की शपथ ली

कुछ महिलाओं ने तो ये भी माना है कि उनके बैकअप पार्टनर के लिए भी वो ठीक वैसा ही फील करती हैं जैसा कि अपने प्रेजेंट पार्टनर के साथ।

12 फीसदी महिलाओं का ये कहना है

स्टडी के मुताबिक 12 फीसदी महिलाओं का कहना था कि उनके करंट पार्टनर की तुलना में प्लान बी पार्टनर की तरफ उनकी फीलिंग ज्यादा स्ट्रांग है। सर्वे में हिस्सा लेनी वाली ज्यादातर महिलाओं ने ये भी माना कि उनके करंट पार्टनर को उनके बैकअप प्लान के बारे में जानकारी है। सर्वे के मुताबिक जहां कुछ महिलाओं के पार्टनर बैकअप प्लान से संबंधित हंसी-मजाक आराम से कर लेते थे वहीं कुछ लोग बैकअप प्लान की चर्चा से ही असहज हो जाते हैं।

ये भी देखें:PM Modi ने पिछले पांच सालो में बदली चार करे , नयी करो की कीमत दो करोड़ के पार

ज्यादातर महिलाओं का कहना था कि उनके बैकअप पार्टनर करंट पार्टनर के ही दोस्त हैं। वहीं सर्वे में कुछ ऐसी भी महिलाएं थी जिनका मानना था कि वो अपने प्लान बी को लेकर पूरी तरह से सुनिश्चित नहीं हैं।

इस खबर से कुछ मर्द परेशान भी हो सकते हैं। हो सकता है कि वो अपने पार्टनर को लेकर पहले से भी सजग हो जाएं और उनके साथ अच्छे तरीके से ही पेश आएं ताकि उनके साथी को प्लान बी की जरूरत ही न पड़े।