स्पाइनल कॉर्ड इंजरी की यह है वजह, जानिए कैसे करें बचाव

स्पाइनल कॉर्ड मानव शरीर में बहुत महत्वपूर्ण काम होता है। स्पाइनल कॉर्ड नसों का एक ऐसा समूह है, जो दिमाग के संदेश को शरीर के अन्य अंगों तक पहुंचाने का काम करता है। इसके अलावा स्पाइंल कॉर्ड लचीला होता है।

लखनऊ: स्पाइनल कॉर्ड मानव शरीर में बहुत महत्वपूर्ण काम होता है। स्पाइनल कॉर्ड नसों का एक ऐसा समूह है, जो दिमाग के संदेश को शरीर के अन्य अंगों तक पहुंचाने का काम करता है। इसके अलावा स्पाइंल कॉर्ड लचीला होता है। जिसके चलते इंसान झुक पाता है। इसलिए स्पाइनल कॉर्ड यानी रीढ़ की हड्डी में चोट का प्रभाव पूरे शरीर, खासकर हाथ-पांव पर पड़ता है।

चोट की वजह से कई बार आपके दैनिक कार्यों में आपको समस्या आ सकती है। स्पाइनल कॉर्ड का ठीक रहना शरीर के लिए जरूरी है, क्योंकि उससे हमारा चलना-फिरना-उठना-बैठना सब कुछ जुड़ा है। इसलिए स्पाइनल कॉर्ड इंजरी के बारे में जानना बहुत जरूरी हो जाता है, ताकि इससे हम बच सकें। ऐसा माना जाता है कि स्पाइनल कॉर्ड इंजरी का खतरा महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को रहता है।

यह भी पढ़ें…चुनावी महायज्ञ में कांग्रेस और महागठबंधन दोनों को स्वाहा कर दें: दिनेश शर्मा

स्पाइनल कॉर्ड में चोट का प्रमुख कारण
रीढ़ की हड्डी में लगने वाली चोट के मामलों में 82% पुरूष होते हैं। एक्सपर्ट अभी तक ये मालूम नहीं लगा पाए हैं कि ऐसा क्यों होता है कि पुरूषों को रीढ़ की चोट लगने का जोखिम महिलाओं से अधिक होता है। रीढ़ की हड्डी में चोट के निम्न कारण प्रमुख हैं-

रोड एक्सीडेंट
गिरने के कारण चोट लगना
खेल-कूद के दौरान चोट लगना
लड़ाई-झगड़े या मार-पीट में रीढ़ की हड्डी पर चोट लगना
अर्थराइटिस, ऑस्टियोपोरोसिस, टीबी और अन्य इंफेक्शन्स के कारण
-कभी-कभी मारपीट में स्पाइंल कॉर्ड में इंजरी हो जाती है।
बुजुर्ग लोगो में स्पाइंल कॉर्ड इंजरी गिरने के कारण हो जाती है।

यह भी पढ़ें…बंदरों के उपद्रव से परेशान हैं मथुरावासी, लोकसभा चुनाव में बन गया है बड़ा मुद्दा

बचने के तरीके
चार पहिया वाहन ड्राइव करते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करना चाहिए। वहीं, दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनना चाहिए।
किसी भी वाहन को नशे की स्थिति में नहीं चलाना चाहिए। इसके साथ ही वाहन की की गति पर नियंत्रण रखना चाहिए।
कम पानी वाली जगह पर स्विमिंग नहीं करनी चाहिए।
ऐसे काम नहीं करने चाहिए, जिससे शरीर को ज्यादा नुकसान पहुंचे।
खेलकूद के समय सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करना चहिए।