×

CAA के खिलाफ लखनऊ में हिंसा, पुलिस की गाड़ियों में लगाई आग, फूंकी चौकी

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहा है। गुरुवार को एक बार फिर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरु हो गया है। लेफ्ट पार्टियों ने भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शन को देखते हुए देश के कई हिस्सों में धारा 144 लगाई गई है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 19 Dec 2019 4:20 AM GMT

CAA के खिलाफ लखनऊ में हिंसा, पुलिस की गाड़ियों में लगाई आग, फूंकी चौकी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहा है। गुरुवार को एक बार फिर देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन शुरु हो गया है। लेफ्ट पार्टियों ने भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शन को देखते हुए देश के कई हिस्सों में धारा 144 लगाई गई है। बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक समेत देश के कई हिस्सों में बड़े प्रदर्शन की संभावना है।

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए उत्तर प्रदेश में धारा 144 लगा दी गई है। यूपी पुलिस ने कहा है कि धारा 144 का उल्लंघन न करें। अभिभावक बच्चों को समझाएं कि किसी भी सम्मेलन का हिस्सा न बने अन्यथा वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर! साइरस मिस्त्री फिर से होंगे टाटा संस के चेयरमैन, ये है प्लान



Updates...

लखनऊ के हसनगंज में प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया और यहां पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी गई। इसके अलावा पुलिस चौकी में तोड़फोड़ भी हुई है। हालांकि, जिन अन्य इलाकों में प्रदर्शन हुआ है वहां हिंसा की कोई खबर नहीं है।

लखनऊ में कांग्रेस नेता गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश पुलिस ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को परिवर्तन चौक पर प्रदर्शन स्थल से गिरफ्तार कर लिया है।

दिल्ली के बाद यूपी में बवाल

उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है। यूपी के संभल में प्रदर्शनकारियों ने सरकारी बस में आग लगा दी है। इतना ही नहीं यहां गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की गई है।

तो वहीं राजधानी लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है। प्रदर्शनकारियों ने यहां पुलिस पर पथराव किया और नारेबाजी की। इस दौरान प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। कई क्षेत्रों में धारा 144 लगाई गई है, इस बीच प्रदर्शन करने लालकिला की तरफ जा रहे कांग्रेस नेता सलमान निज़ामी को पुलिस ने रोक दिया।

कमल हासन का सरकार पर हमला

प्रदर्शन कर रहे इतिहासकार रामचंद्र गुहा, नेता योगेंद्र यादव के समर्थन में अब कमल हासन भी आ गए हैं, उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि मैं सरकार के द्वारा मूर्खतापूर्ण कदम उठाते हुए सत्याग्रह की लड़ाई लड़ने वालों को गिरफ्तार करने के लिए तालियां पीटता।



छात्रों से डरी हुई सरकार

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा गया है कि यह सरकार छात्रों से डरी हुई है। यह सरकार मीडिया से बात करने पर भारत के सबसे कुशल इतिहासकारों में से एक से डर गई। मैं रामचंद्र गुहा को हिरासत में लेने की निंदा करती हूं।



देश में कानून व्यवस्था बिगड़ रही: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज देश में कानून व्यवस्था बिगड़ रही है। आज सभी नागरिकों में डर है। मैं केंद्र सरकार से अपील करता हूं कि वह इस कानून को लागू न करे और युवाओं को रोजगार दे।

लेफ्ट नेता कन्हैया कुमार ने कहा कि नागरिकता कानून संविधान के खिलाफ है और हम तब तक विरोध करेंगे जब तक ये वापस नहीं होगा। उन्होंने कहा कि जिनके पास कागज नहीं हैं वो कहां जाएंगे।

कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम हरीश रावत और रिपुन बोरा ने गुवाहाटी में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।

इन इलाकों में इंटरनेट बंद

एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, रिलायंस जियो ने दिल्ली में मोबाइल इंटरनेट, कॉलिंग, SMS की सुविधा बंद होने की घोषणा की है। मंडी हाउस, सीलमपुर, जाफराबाद, मुस्तफाबाद, जामिया नगर, शाहीन बाग, बवाना समेत कई इलाकों में इंटर बंद है।

नोएडा-दिल्ली में भीषण जाम

दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ जो प्रदर्शन जारी है, उसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर में भीषण जाम लग गया है। दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले महामाया फ्लाईओवर से नोएडा गेट तक करीब 3 किमी लंबा जाम लग गया है।

हिरासत में कई नेता

दिल्ली में कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित, सीताराम येचुरी, डी. राजा, उमर खालिद समेत कई बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया गया है। सभी नेता नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। इससे पहले बेंगलुरु में रामचंद्र गुहा, लालकिला क्षेत्र में योगेंद्र यादव को भी हिरासत में ले लिया गया था।

चंडीगढ़ में प्रदर्शन रद्द

चंडीगढ़ में CAA और NRC के खिलाफ सेक्टर 20 की जामा मस्जिद के पास इकट्ठा हुए मुस्लिम समुदाय के लोगों ने ऐन वक्त पर अपना प्रदर्शन मार्च रद्द कर दिया है। अब सिर्फ मुस्लिम संगठनों से जुड़े कुछ नुमाइंदे जाकर पंजाब के राज्यपाल जोकि चंडीगढ़ के प्रशासक भी हैं उनको एक ज्ञापन सौंपेंगे।

दिल्ली के ये 18 मेट्रो स्टेशन बंद

-वसंत विहार

-बाराखंभा रोड

-मंडी हाउस

-पटेल चौक

-लोक कल्याण मार्ग

-उद्योग भवन

-ITO

-प्रगति मैदान

-खान मार्केट

-केंद्रीय सचिवालय

-लालकिला

-जामा मस्जिद

-चांदनी चौक

-विश्वविद्यालय

-जामिया मिलिया इस्लामिया

-जसोला विहार

-शाहीन बाग

-मुनेरका

जितना आवाज दबाएंगे उतनी तेज आवाज उठेगी: प्रियंका

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने धारा 144 और इंटरनेट बंद करने को लेकर केंद सरकार पर निशाना सदा है। उन्होंने ट्वीट कहा है कि मेट्रो स्टेशन बंद हैं। इंटरनेट बंद है। हर जगह #Section144 है। किसी भी जगह आवाज उठाने की इजाजत नहीं है। जिन्होंने आज टैक्सपेयर्स का पैसा खर्च करके करोड़ों का विज्ञापन लोगों को समझाने के लिए निकाला है, वही लोग आज जनता की आवाज से इतना बौखलाएँ हुए हैं कि सबकी आवाजें बंद कर रहे हैं। मगर इतना जान लीजिए कि जितना आवाज दबाएँगे उतनी तेज आवाज उठेगी।



राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन तेज होता जा रहा है। अभी तक राजधानी में 17 मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। मोबाइल नेटवर्क कंपनी एयरटेल की तरफ से बयान आया है कि सरकार की तरफ से उन्हें आदेश दिया गया है कि दिल्ली के कुछ इलाकों में वॉइस, एसएमएस, इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया है। कंपनी ने बयान दिया है कि जब ये सस्पेंशन को हटा दिया जाएगा, तब सुविधा शुरू कर दी जाएगी।



दिल्ली में इंटरनेट बंद करने को लेकर सबसे बड़ा कारण ये भी है क्योंकि जो भी प्रदर्शन हो रहे हैं वो व्हाट्सएप ग्रुप की वजह से हो रहे हैं। इसको लेकर कोई दल सामने नहीं आया है।

दिल्ली के बाद लखनऊ में भी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन को देखते हुए मेट्रो को बंद किया गया है। परिवर्तन चौक से लेकर केडी सिंह बाबू मेट्रो स्टेशन तक शाम पांच बजे तक मेट्रो बंद रहेंगी।

नागरिकता कानून को लेकर देश भर में प्रदर्शन तेज हो गया है। दिल्ली पुलिस ने लालकिले इलाके में प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया है। इस क्षेत्र में पुलिस ने धारा 144 लागू की है। कर्नाटक के कुलबर्गी क्षेत्र में प्रदर्शन करने वाले 20 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया है।

बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे इतिहासकार रामचंद्र गुहा और दिल्ली में स्वराज इंडिया पार्टी के अध्यक्ष योगेंद्र यादव को हिरासत में ले लिया गया है।

दिल्ली के लालकिले इलाके और नॉर्थ ईस्ट जिले में धारा 144 लगा दी गई है। इस दौरान चार से अधिक लोग एक साथ बाहर नहीं रह सकते हैं। इसके अलावा

पटेल चौक, लोक कल्याण मार्ग, उद्योग भवन, ITO, प्रगति मैदान, खान मार्केट और केंद्रीय सचिवालय समेत 15 मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया गया है।

यूपी विधानसभा के बाहर सपा विधायक चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के पास धरना दे रहे हैं। प्रदर्शन के दौरान सपा एमएलसी राजेश यादव विधानसभा के गट पर चढ गए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। समाजवादी पार्टी के नेता नागरिकता कानून, महिलाओं के खिलाफ अत्याचार और राज्य में कानून व्यवस्था को लेकर लखनऊ स्थित विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

लेफ्ट पार्टियों ने नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ भारत बंद बुलाया है। बिहार के कुछ इलाकों में लेफ्ट कार्यकर्ताओं ने ट्रेन को रोक दिया। AISF के सदस्यों ने नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में पटना के राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन रोक दी है।

यह भी पढ़ें...निर्भया रेप केस: डेथ वॉरंट पर टली सुनवाई, दोषियों को फांसी में देरी

स्वराज इंडिया समेत कुल 60 संगठन लालकिले से अपने प्रदर्शन की शुरु किया है। हालांकि, दिल्ली पुलिस ने इस प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है। दिल्ली में दोपहर 12 बजे से मंडी हाउस से लेफ्ट पार्टियां मार्च शुरू किया है जो शहीद पार्क तक चलेगा।

यह भी पढ़ें...राष्ट्रपति डोलान्ड ट्रंप को लगा तगड़ा झटका, अब जानिए क्या होगा उनका भविष्य

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ बेंगलुरु में आज बड़े प्रदर्शन की आशंका है। हम भारत के लोग बैनर के तले कई संगठनों ने बेंगलुरु में प्रदर्शन का ऐलान किया है। इससे पहले ही बेंगलुरु में धारा 144 लगा दी गई है और प्रदर्शन को इजाजत नहीं दी गई है। कर्नाटक सीएम बीएस. येदियुरप्पा ने सीनियर अधिकारियों के साथ बैठक की है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story