दीपिका की JNU एंटरी पर मचा घमासान, विवादों के घेरे में राम की लीला

ये भी पढ़े-दीपिका के समर्थन में पाकिस्तान: जरा सुनें, विरोध पर पाक सेना का जवाब…

जेएनयू एंटरी के बाद फंसी दीपिका

जेएनयू विवाद में दीपिका पादुकोण के  स्टैंड लेने के बाद से दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक विवादों में आ गई है। एक तरफ जहां फिल्म को बायकॉट करने की मांग उठ रही है। वहीं दूसरी ओर दीपिका के सपोर्ट में कई सितारे हैं। लेकिन दीपिका के JNU जाने के बाद सोशल मीडिया पर राजेश और नदीम नाम ट्रेंड कर रहा है। इसकी क्या वजह है जाने पूरा मामला।

ट्विटर पर राजेश और नदीम खान नाम ट्रेंड होने लगे

बुधवार को देखते ही देखते ट्विटर पर राजेश और नदीम खान नाम ट्रेंड होने लगे और लोगों ने छपाक के मेकर्स की मंशा पर सवाल उठाए। कहा जाने लगा कि फिल्म में लक्ष्मी पर तेजाब फेंकने वाले शख्स का नाम ही नहीं धर्म भी बदला गया है। उसका रियल नाम नदीम खान है जिसे फिल्म में राजेश कर दिया गया है। हालांकि ये सच नहीं है।

दरअसल, बुधवार को स्वराज मैगजीन ने एक आर्टिकल छापा जिसकी हेडलाइन थी, “बॉलीवुड के तरीके: दीपिका की फिल्म छपाक में राजेश बन गया एसिड फेंकने वाला नदीम खान”। दीपिका के जेएनयू जाने का विरोध करने वाले सोशल मीडिया यूजर्स ने इसी खबर की मदद से बात का बतंगड़ बना दिया और सोशल मीडिया पर ये खबर फैल गई कि फिल्म में एसिड फेंकने वाले का नाम बदलने के बहाने उसका धर्म बदला गया है और ये हिंदू धर्म को बदनाम करने की एक कोशिश है।

ये भी पढ़े-JNU विवाद में महिला आयोग भी कुदी, दिल्ली पुलिस को लिया निशाने पर

फिल्म में नाम के बदलने का है आरोप

जबकि फिल्म में एसिड फेंकने वाले का नाम राजेश नहीं बल्कि बशीर खान उर्फ बब्बू है। फिल्म में नाम की मदद से एसिड फेंकने वाले शख्स का धर्म बदलने की बात पूरी तरह से गलत है।

भाजप नेता भी कुदे इस विवाद में

बात तब और बढ़ गई जब पर्यावरण और वन मंत्रालय संभालने वाले बाबुल सुप्रियो ने बयान दिया, “जब आप कहते हैं कि कहानी के सभी पात्र और घटनाएं काल्पनिक हैं तो आप पूरी तरह से हिप्पोक्रेसी दिखा रहे होते हैं। जब आप नाम बदलते हैं तो आप उसी के साथ धर्म भी बदल देते हैं।”

बाबुल ने कहा कि ये सब जान बूझकर किया गया है। उधर भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सासंद सुब्रमण्यम स्वामी ने एक वकील के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कहा कि इसी करण दीपिका पादुकोण और उनकी फिल्म छपाक के खिलाफ लीगल नोटिस ड्राफ्ट कर रहे हैं यदि उन्होंने एसिड फेंकने वाले का नाम मुस्लिम से बदलकर हिंदू किया है तो।