×

एडीआर की रिपोर्ट : हिमाचल का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार, पानी, दवाई

 हिमाचल प्रदेश में बेहतर रोजगार के अवसर (63.60%), कृषि (47.02%) और बेहतर अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए पानी की उपलब्धता (41.10%) शीर्ष तीन मतदाता प्राथमिकताओं में शामिल है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 8 May 2019 2:55 PM GMT

एडीआर की रिपोर्ट : हिमाचल का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार, पानी, दवाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शिमला : लोकसभा चुनाव में हिमाचल प्रदेश का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार है। दूसरे नंबर पर हर खेत को पानी और तीसरे नंबर पर बेहतर अस्पताल और मरीजों को सुविधा है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स (एडीआर) द्वारा देश के संभवत: सबसे बड़े मतदाता सर्वेक्षण का नतीजा बताता है कि हिमाचल प्रदेश में बेहतर रोजगार के अवसर (63.60%), कृषि (47.02%) और बेहतर अस्पतालों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए पानी की उपलब्धता (41.10%) शीर्ष तीन मतदाता प्राथमिकताओं में शामिल है।

ये भी पढ़ें…इलाहाबाद उच्च न्यायालय-CM योगी के खिलाफ याचिका पर निर्णय सुरक्षित

ग्रामीण मतदाताओं के बड़े मुद्दे

कृषि (2.60)

रोजगार के अवसर (64%)

कृषि (53%)

बेहतर अस्पतालों / प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (41%) के लिए पानी की उपलब्धता

सार्वजनिक परिवहन (2.39)

बेहतर सड़क (2.75)

ये भी पढ़ें…इलाहाबाद हाईकोर्ट : अवैध खनन मामले में जिलाधिकारी हुए हाजिर

शहरी मतदाताओं के बड़े मुद्दे

बेहतर रोजगार के अवसर (60%)

स्कूल शिक्षा (60%)

भ्रष्टाचार उन्मूलन (44%)

शीर्ष 3 मतदाता 'प्राथमिकताएं और हिमाचल प्रदेश में सरकार के प्रदर्शन - कुल मिलाकर और ग्रामीण एवं शहरी

ये भी पढ़ें…इलाहाबाद उच्च न्यायालय: अभद्र टिप्पणी करने वाले की याचिका खारिज

image.png

image.png

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story