Top

नेता जी से शिवपाल सिंह की गुप्त वार्ता, सपा अध्यक्ष अखिलेश चिंतित

प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह की नेता जी से गुप्त वार्ता की बात, जैसे ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की जानकारी में आयी वैसे ही, आनन फानन में अखिलेश यादव सैफई से समाजवादी रथ लेकर सीधे इटावा मुलायम सिंह आवास पर पहुँच गए, जहाँ उन्होंने मुलायम सिंह से वार्तालाप की और मीडिया से भी रूबरू हुए।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 1 April 2019 11:44 AM GMT

नेता जी से शिवपाल सिंह की गुप्त वार्ता, सपा अध्यक्ष अखिलेश चिंतित
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इटावा: सपा सरंक्षक नेता जी "मुलायम सिंह यादव" का आज लोकसभा मैनपुरी जनपद में नामांकन का दिन था। मुलायम के छोटे भाई प्रसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव मुलायम सिंह यादव के इटावा सिविल लाइन स्थित आवास पर सुबह ही पहुँच गए, जहां उन्होंने मुलायम सिंह यादव को बधाई दी, लेकिन इस बधाई के दौरान मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह बहुत देर तक अकेले में गुप्त वार्ता करते रहे। जिसमें मुलायम की कोठी पर मौजूद सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को अलग कर दिया गया और मीडिया से भी दूरी बनाई गई थी।

ये भी पढ़ें: तमिलनाडु में चुनाव ड्यूटी पर तैनात हरियाणा का पुलिस अधिकारी निलंबित

हम आपको बता दें कि प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह की नेता जी से गुप्त वार्ता की बात, जैसे ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की जानकारी में आयी वैसे ही, आनन फानन में अखिलेश यादव सैफई से समाजवादी रथ लेकर सीधे इटावा मुलायम सिंह आवास पर पहुँच गए, जहाँ उन्होंने मुलायम सिंह से वार्तालाप की और मीडिया से भी रूबरू हुए।

अखिलेश यादव का मुलायम की कोठी पर अचानक से आ जाना राजनीति गलियारें में चर्चा का विषय बनी हुई है। और चर्चा का विषय भी है क्योंकि सपा संरक्षक मुलायम सिंह को नामांकन के लिए इटावा से सैफई जाना था । जहां से अखिलेश यादव, बदायूँ सांसद धर्मेंद्र यादव, और परिवारिक सदस्यों व कार्यकर्ताओं को समाजवादी रथ पर सवार होकर मैनपुरी नामांकन के लिए जाना था।

ये भी पढ़ें:ये हैं 5 ऐसे बाहुबली नेता जिनका यूपी की राजनीति में कायम है वर्चस्व!

लेकिन पूर्व में निर्धारित कार्यक्रम को अचानक से शिवपाल सिंह की 'नेता जी' से गुप्त वार्ता के बाद अचानक से बदला जाना, कहीं न कहीं दोनों नेताओं के बीच जो तल्खी ही इसका कारण हो सकती है, और यह चर्चा राजनीतिक गलियारों की सुर्खियां बनी हुई है।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story